बागड़ी मार्केट जल कर खाक

बड़ाबाजार में फिर लौटा नंदराम अग्निकांड का खौफ

पूजा से पहले करोड़ों की क्षति

कोलकाता : कोलकाता में अग्निकांड का कहर थमने का नाम ही नहीं रहा है। एक के बाद एक आग की बड़ी घटनाएं होती ही जा रही हैं। बड़ाबाजार के मशहूर थोक बाजार बागड़ी मार्केट में लगी आग की घटना से 10 साल पहले नंदराम मार्केट अग्निकांड की खौफ लौट आई। रविवार तड़के करीब 2 बजे आग लगने की सूचना मिलते ही दमकल इंजनों का जमावड़ा शुरू हो गया। खबर लिखे जाने तक लगभग 35 दमकल के इंजनों की मदद से आग बुझानें की कोशिश जारी थी। हालांकि, आशंका है कि बागड़ी मार्केट पूरी तरह जलकर खाक हो गया और पूजा से पहले करोड़ों की क्षति हुई है। दमकल विभाग ने आग को नियंत्रित करने के लिए लैडर का इस्तेमाल करने की कोशिश की लेकिन तारों(वॉयर) के जाल के चलते ऐसा नहीं हो सका। वहीं, आग लगने के 18 घंटे बाद भी उस पर नियंत्रण नहीं होने के लिए दुकानदारों ने दमकल विभाग व आपदा प्रबंधन समूह को जिम्मेवार ठहराया है।

जानकारी के अनुसार 6 तल्ला बागड़ी मार्केट में लगभग एक हजार दुकानें, गोदाम, दफ्तर आदि हैं जिनमें दवाई, खिलौने, कॉस्मेटिक्स, इमिटेशन ज्वेलरी, बेबी फूड, प्लॉस्टिक इत्यादी शामिल है। मार्केट के पांचवे तल्ले पर सुरक्षा कर्मी व उनके परिवार रहते हैं। आग लगने की खबर सुनते ही सभी सुरक्षा कर्मी अपने परिवार को लेकर सही सलामत बाहर निकल आए। आग लगने के बाद मार्केट में किसी के फंसे होने की खबर नहीं थी, मगर आग से निकल रहे धुंए के कारण 4 दमकल कर्मी समेत 6 लोगों के स्वास्थ्य पर असर पड़ा। बताया जा रहा है कि इस आग लगने की घटना में करोड़ों का नुकसान हुआ है। दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भीड़भाड़ वाला इलाका होने के कारण आग बुझाने के काम में उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि दमकल कर्मी मार्केट के अंदर तक जा कर आग पर काबू पाने की कोशिश की। गैस कटर से कई ग्रिलों को काट कर आग पर काबू पााने का काम किया गया। उन्होंने बताया कि कैनिंग स्ट्रीट स्थित बागड़ी मार्केट के निचले तल्ले पर पहले आग लगी और अन्य मंजिलों तक तेजी से फैलती चली गयी। मार्केट में स्थित गोदाम व दुकानों में भारी मात्रा में ज्वलनशील पदार्थ होने के कारण आग ने भयावह रूप ले ली। इस घटना के पीछे का असल कारण अभी तक पता नहीं चल सका है। मगर स्थानीय लोगों की माने तो आग पहले बागड़ी मार्केट के फुट पर स्थित एक हॉकर की दुकन में लगी जहां एक धमाका हुआ। धमाके की वजह से हॉकर की दुकान का एक हिस्सा पास स्थित ट्रांस्फॉर्मर पर जा गिरा और यहां से आग भड़क गयी। यहां से आग ने बागड़ी मार्केट को अपनी चपेट में ले लिया।

जानकारी के अनुसार आग लगने के बाद लगातार इमारत में ब्लॉस्ट हो रहे थे। अनुमान लगाया जा रहा है कि इमारत में स्थित ऐसी मशीन गर्म होने की वजह से फट रहे होंगे। वहीं दूसरी ओर आग के प्रकोप का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आग लगने की वजह से बागड़ी मार्केट की दीवारों पर दरारें पड़ गयीं। आग के कारण इलाके में रातारात नियंत्रित किया गया। कोलकाता रातारात पुलिस विभाग ने ट्वीट कर कहा कि आग लगने की घटना के कारण एमजी रोड और पोद्दार कोर्ट के बीच, रवींद्र सरणी और ब्रेबॉर्न रोड और रवींद्र सारणी के बीच कैनिंग स्ट्रीट पर वाहनों की आवाजाही बंद है। राज्य के दमकल मंत्री शोभन चटर्जी ने कहा कि दुकानदारों ने चेतावनियों के बावजूद अग्निसुरक्षा उपकरण नहीं लगाए। उन्होंने कहा कि हम कई बार बागड़ी मार्केट में गए और दुकानदारों से ऐसी घटनाओं के खिलाफ ऐहतियात बरतने के लिए कहा था। दमकल विभाग ने भी सुरक्षा उपायों की सिफारिश की थी लेकिन ऐसे कोई कदम नहीं उठाए गए। उन्होंने कहा कि अगर समय पर सुरक्षा उपाय किये होते तो हादसे से बचा जा सकता था। आग लगने के लिए मार्केट के अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। बागड़ी मार्केट में आग लगने की सूचना पाकर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारिरों के साथ मौके का मुआरना करने वाले कोलकाता पुलिस आरुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निकटवर्ती क्षेत्रों में आग फैलने की आशंका के कारण आसपास की इमारतों को खाली करा लिरा गरा है। अग्निशमन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आग ने भयावह रूप ले ली है। हमारे अधिकारी आग पर काबू पाने के लिए अपनी ओर से बेहतर प्ररास कर रहे हैं। पश्‍चिम बंगाल अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाओं के महानिदेशक जगमोहन ने कहा कि आग पर काबू पाने में 24 से 48 घंटे लगेंगे। उन्होंने कहा, आग पर काबू पाने के लिए हमें समर चाहिए क्रोंकि चार से पांच तल आग से पूरी तरह घिरे हुए हैं। दुकानों में प्लास्टिक के खिलौने, डीओडरंट, फैब्रिक्स और रासारनिक सामग्री जैसी ज्वलनशील सामग्री का ढेर है। साठ साल पुरानी इमारत में लगी आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 35 गाड़ियां लगाई गई हैं। जगमोहन ने कहा कि हम स्थिति से निपटने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्ररास कर रहे हैं। शुरू में, बाहर से पानी की बौछारें चलाई गईं। लेकिन अब हम इमारत में घुसने में सफल हो गए हैं। अभिरान में दो दमकलकर्मी मामूली रूप से झुलस गए हैं। उन्होंने बतारा कि कैनिंग स्ट्रीट पर तड़के लगभग ढाई बजे इमारत के भूतल में आग लगी और अन्र मंजिलों तक तेजी से फैल गई।

आग में कोई नहीं फंसा, आग जल्द निरंत्रित होगी : ममता

कोलकाता : मुख्रमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि बागड़ी मार्केट में किसी के फंसने की कोई खबर नहीं है। वहां 18 घंटे बाद भी भरंकर आग लगी हुरी है। जर्मनी और इटली में कारोबारी शिखर सम्मेलनों के लिए 12 दिन के विदेशी दौरे पर रवाना हुईं मुख्यमंत्री ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीर हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि उन्हें घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है।

उन्होंने कहा कि इमारत में कोई नहीं फंसा है। किसी के मरने रा घारल होने की कोई सूचना भी हमें नहीं मिली है। कदम उठाए जा रहे हैं। आग पर जल्द काबू पा लिरा जाएगा। मुख्रमंत्री ने कहा कि उनके विदेश में रहने तक राज्र में किसी भी आपात स्थिति रा प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए दो समितिरां पहले ही गठित कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि समितिरों में मंत्री और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी शामिल हैं। मुख्रमंत्री ने कहा कि वे और मुख्र सचिव फोन पर हर समर उपलब्ध रहेंगे। रे दोनों समितिरां किसी भी आपातकालीन स्थिति को देखेंगी। बहुमंजिला बागड़ी मार्केट में रविवार को भरानक आग लग गई जहां लगभग एक हजार व्रावसारिक प्रतिष्ठान स्थित हैं। आग 18 घंटे बाद भी लगी हुई है। घटनास्थल रारटर्स बिल्डिंग और भारतीर रिजर्व बैंक कार्रालर से लगभग एक किलोमीटर दूर है। साठ साल पुरानी इमारत में लगी आग को बुझाने के काम में 30 दमकल गाड़िरां लगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *