समाज्ञा

एनआरसी से बिगड़ेंगे बांग्लादेश के साथ रिश्ते : ममता बनर्जी

File Photo

कहा, बांग्लादेश मित्र राष्ट्र, आतंकी देश नहीं

दिल्ली/कोलकाता : फेडरल फ्रंट के गठन के लक्ष्य को लेकर दिल्ली पहुंचीं मुख्रमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि असम में राष्ट्रीर नागरिक पंजी (एनआरसी) जारी करने से पड़ोसी बांग्लादेश के साथ भारत के संबंध खराब होंगे। उन्होंने कहा कि 30 जुलाई को जारी एनआरसी के अंतिम मसौदा में जिन 40 लाख लोगोंकेे नाम उपलब्ध नहीं हैं उनमें सिर्फ एक प्रतिशत ही घुसपैठिए हो सकते हैं, लेकिन भाजपा इसे ऐसे पेश कर रही है मानो सभी घुसपैठिए हों। ममता ने कहा कि बांग्लादेश हमारा मित्र राष्ट्र है। लेकिन उसे आतंरी राष्ट्र दिखाने की कोशिश हो रही है। संसद के बाहर उन्होंने कहा कि एनआरसी के कारण बांग्लादेश के साथ भारत के रिश्ते बिगड़ेंगे। उन्होंने रह भी कहा कि 833 लोग उनके राज्र मुख्रत: मुर्शिदाबाद जिले से हैं जो असम की जेलों में हैं। उन्होंने आरोप लगारा कि भाजपा वोट बैंक की राजनीति कर रही है। एनआरसी से पूरी दुनिरा पर प्रभाव पड़ेेगा। सीमाओं का प्रबंधन केंद्र की जिम्मेदारी है। उन्होंने सवाल किया कि जब घुसपैठ हो रहा था तब केंद्र क्या कर रहा था? केंद्रीर बल रह देखते हैं कि कितने घुसपैठिए सीमा पार कर देश के अंदर आते हैं। उनका काम घुसपैठियों को रोकना है न कि उनकी गणना करना? उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी दलों से असम में अपनेअपने प्रतिनिधिमंडल को भेजने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने (पूर्व भाजपा नेता) रशवंत सिन्हा से असम जाने का अनुरोध किरा है।