गेस्ट हाउस में चल रहा था देह व्यवसाय

Photo- गेस्ट हाउस सील करते CID  प्रबंधक

  1. कोन्नगर से सीआईडी ने किया भंडाफोड़
  2. कोन्ननगर पालिका के संचालन में चल रहा था गेस्टहाउस
  3. 8 युवतियों समेत 12 गिरफ्तार

पश्‍चिम बंगाल सीआईडी के विशेष दस्ते ने गुरुवार  के तड़के गुप्त सूचना पर छापामारी अभियान चलाते हुए कोन्ननगर नगरपालिका द्वारा संचालित विश्रामिका नामक एक गेस्टहाउस से देहव्यवसाय गिरोह का भंडाफोड किया। सीआईडी की टीम ने कोन्नगर स्टेशन संलग्न इलाके के गेस्ट हाउस से देह व्यवसाय में लिप्त 12 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। गुप्त सूचना के आधार पर सीआईडी की एक दल ने छापामारी अभियान चलाकर इन्हें गिरफ्तार किया। आरोप है की इस गेस्ट हाउस में अरसे से देह व्यवसाय चल रहा था। विभाग के 10 लोगों की टीम ने इस धड़पकड़ को अंजाम दिया। गिरफ्तारी के बाद सभी को कोन्नगर थाने में ले जाया गया। छापेमारी के दौरान घर से 10 मोबाइल फोन कुछ नगद रुपए और अन्य कई तथ्य, अश्‍लील सीडी एवं कुछ आपत्तिजनक वस्तु बरामद जब्त किये गये हैं। पालिका द्वारा संचालित होने के कारण इस पर किसी की नजर भी नहीं जा रही थी। ग्राहकों को यह लोग सोशल मीडिया के द्वारा पोटते थे उन्हें युवतियों की तस्वीर भेजी जाती थी। पसंद आने पर दर दाम तय होता था और सुरक्षित जगह बता कर यह कारोबार चल रहा था। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गेस्ट हाउस का एक घंटे का किराया 400 से 500 रुपये था। रुपये लेनदेन का तमाम काम दलाल ही करते थे। गिरफ्तार युवतियों में अधिकतर वैद्यवाटी, सेवड़ाफुली और तारकेश्‍वर की रहने वाली है जबकि गिरफ्तार युवकों में से अधिकतर उत्तर 24 परगना के हैं। आरोपियों को चुंचुड़ा कोर्ट में पेश किया जाएगा। सीआईडी ने इस गेस्ट हाउस को सील कर दिया है। इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कोन्ननगर नगरपालिका के चेयरमैन बाप्पादित्य चटर्जी ने बताया कि उनके संज्ञान में यह घटना नहीं थी। सीआईडी के छापेमारी अभियान के बाद उन्हें घटना का संज्ञान मिला फिलहाल इस घटना में जुड़े सभी लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी। वहीं उत्तरपाड़ा के विधायक प्रबीर घोषाल ने बताया कि पालिका को इस तरह की कोई जानकारी पहले से नहीं थी यदि होती तो पहले ही कानूनी प्रक्रिया की जाती। हालांकि पालिका से लीज में लेकर यह गेस्टहाउस चलाया जा रहा है। गेस्ट हाउज के निर्माण के बाद स्थानीय तृणमूल नेता श्यामल मंडल ने इसे लीज पर लिया था। वहीं इस मामले में स्थानीय पार्षद स्वपन कुमार दास ने बताया कि उन्हें इस घटना के बारे में लोगों ने शिकायत की थी। उन्होंने इसका विरोध करना चाहा मगर कर नहीं पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *