कोलकाता के बच्चों पर छाया ब्लू व्हेल का नशा

कोलकाताः कोलकाता और हावड़ा के बच्चों और किशोरों में ब्लू व्हेल का नशा छाया हुआ है. गूगल ट्रेंड्स की एक रिपोर्ट में इसे लेकर चौंकाने वाले आंकड़े आए हैं. गूगल ट्रेंड्स की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में इस गेम को सबसे ज्यादा सर्च कोलकाता में किया गया. पिछले 12 महीनों में कोलकाता में इस गेम को 100 फीसदी ज्यादा बार सर्च किया गया. कोलकाता तो पहले नंबर पर है लेकिन दुनिया के टॉप 5 शहरों में तीन शहर भारत के हैं. गूगल पर इस ब्लू व्हेल गेम को ‘ब्लू व्हेल चैलेंज गेम’, ‘द वेल गेम’, ‘ब्लू वेल गेम डाउनलोड’, ‘ब्लू वेल एपीके’ जैसे कीवर्ड के जरिये सर्च किये गए. इसे सर्च करने में दुनिया के 30 शहरों में कोलकाता एक नंबर पर, दूसरे नंबर पर सैन एंटोनियो, नेरोबी, गुवाहाटी, चेन्नै, बेंगलुरु, मुंबई, नई दिल्ली, हावड़ा और पैरिस शामिल है.

गौरतलब है कि केरल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल में ब्लू व्हेल चैलेंज से जुड़े कई मामले सामने आए हैं. जिनमें से दो मामलो में बच्चों को उस वक्त बचाया गया, जब वह आखिरी स्टेज में पहुंच कर आत्महत्या करने ही वाले थे. इस चैलेंज के बढ़ते मामलों को देखते हुए, पश्चिम बंगाल के सीआईडी विभाग ने फेसबुक पर चेतावनी भरा वीडियो अपलोड किया है. जिसमे इस खेल को लेकर बच्चो को सतर्क किया जा सके.

ऑनलाइन ब्लू व्हेल गेम जो जानलेवा है उससे होने वाले खतरे को जानने के बाद भी लोग उस गेम को इंटरनेट पर सर्च कर रहे हैं. पिछले दो महीनों में इस ऑन लाइन व्लू व्हेल गेम की वजह से होनेवाली कई मौत भी सामने आ चुकी है. लेकिन उन मौतों के सामने आने के बाद से लोगों में इसे लेकर जिज्ञासा बढ़ी है. लोग इस गेम को उन हादसों के बाद से ज्यादा सर्च करने लगे हैं.
ब्लू व्हेल गेम की मास्टर माइंड युवती पकड़ी गई

ब्लू व्हेल गेम के खतरनाक खूनी खेल ने टीनेजर्स की जिंदगी खत्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. अब पता चला है कि इस इस गेम की मास्टर माइंड 17 साल की एक लड़की है जिसे अब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है. रूस की रहने वाली ये लड़की बच्चों धमकाती और उनके परिवार वालों की जान लेने की धमकी देती थी. इस धमकी के साथ वह उनसे अजीबोगरीब व खतरनाक टास्क कराती थी. वास्तव में यह लड़की इस गेम की एडमिन है. वह खुद इस गेम को खेल चुकी है और सुसाइड करने की बजाए इस गेम को आगे बढ़ाने का फैसला किया और एडमिन बनकर बच्चों को इस गेम को खेलने के लिए प्रोत्साहित करती और उन्हें सुसाइड करने के लिए उकसाती थी.

इस गेम में 50 दिनों में 50 टास्क करने को कहती और आखिरी स्टेज में उन्हें अपनी जान लेने को कहती. इस गेम में खुद के हाथ पर ब्लेज से व्हेल बनाने, हॉरर मूवीज देखने, रात में अकेले घूमने से लेकर खुद को नुकसान पहुंचाने जैसे टास्क शामिल होते थे. जब पुलिस ने छापामारी की तो उसके पास से नोटपैड मिला था, जिसमें वो अपने शिकार की कमज़ोरियां नोट किया करती थी. इनका इस्तेमाल कर के वो बच्चों को आत्महत्या के लिए उकसाती थी.

इस एडमिन के एक अन्य व्यक्ति को भी इस खेल में शामिल होने के लिए मास्को से अरेस्ट किया गया है. 21 साल का यह शख्स बच्चों को ब्लैकमेल करता था. इससे पहले 26 साल की इलिया सिजोरोव को भी एडमिन होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

एक और युवक ने की खुदकुशी

तमिलनाडु के मदुरई में ब्‍ल्‍यू व्‍हेल गेम में 19 साल के एक लड़के ने जान दे दी. लड़के ने फांसी लगाकर खुदकुशी की. तमिलनाडु में ब्‍ल्‍यू व्‍हेल गेम से यह पहली मौत है. पुलिस ने बताया कि मृतक बीकॉम सैकंड ईयर का छात्र था. बुधवार सुबह उसके पिता ने उसे फंदे से लटकता हुआ पाया. एक पुलिसकर्मी ने बताया कि लड़के के हाथ पर ब्‍ल्‍यू व्‍हेल का चित्र बना हुआ था. उसके कमरे से एक सुसाइड लेटर भी मिला है. इसमें लिखा है कि ब्‍ल्‍यू व्‍हेल कोई खेल नहीं बल्कि खतरा है और एक बार इसमें घुसने के बाद आप कभी इससे निकल नहीं सकते.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *