रोजवैली चिटफंड घोटाला. शुभ्रा से संबंधों के बारे में होगी पूछताछ

मनोज कुमार को पुलिस ने किया तलब

कोलकाता, समाज्ञा रिपोर्टर

कोलकाता पुलिस की ओर से प्रवर्तन निदेशक(ईडी) के सस्पेंडेड अधिकारी मनोज कुमार को लालबाजार पूछताछ के लिए तलब किया गया है। गुरुवार को कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) विशाल गर्ग ने कहा, ‘उन्हें पूछताछ के लिए कल बुलाया गया है।’ वहीं, दूसरी ओर ईडी ने कोलकाता पुलिस को एक पत्र भेजकर पूरे मामले की जानकारी मांगी है। ज्ञात हो कि कोलकाता पुलिस की ओर से एक वीडियो फुटेज के खुलासे में ईडी अधिकारी मनोज कुमार रोजवैली समूह के मालिक गौतम कुंडू के साथ कथित रूप से कोलकाता से दिल्ली जाते व एक साथ होटल में ठहरते देखे गए हैं। कोलकाता पुलिस का दावा है कि उनके नोटबंदी से जुड़े एक मामले की जांच में उक्त वीडियो उनके हाथ लगा है। सूत्रों के अनुसार ईडी ने कोलकाता पुलिस से यह जानना चाहा है कि किस तरह से ‘रद्द किए गए नोटों’ का मामला रोजवैली से जुड़ा हुआ है।

दूसरी ओर, ईडी के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम बुधवार रात को ही कोलकाता पहुंची। गुरुवार को मनोच कुमार ईडी के कार्यालय में इस टीम के सामने हाजिर हुए। ईडी की इस टीम ने मनोज कुमार से उनके चिटफंड मामलों की जांच संबंधी जानकारी ली है। सूत्रों के अनुसार ईडी की टीम यह भी जानने का प्रयास कर रही है कि कहीं शुभ्रा कुंडू को मनोज कुमार से नजदीकी का लाभ तो नहीं मिला है। इस बारे में कोलकाता पुलिस से ईडी अधिकारी के खिलाफ दर्ज शिकायत की प्राथमिक समेत अन्य जानकारियां भी तलब की गयी हैं।

सूत्रों के अनुसार ईडी इस बात की भी जांच कर रही है कि कोलकाता पुलिस को कहां से उक्त वीडियो हाथ लगा है। बताते चलें कि कोलकाता पुलिस की शिकायत के आधार पर ही प्रवर्तन निदेशालय की ओर से अपने अधिकारी के खिलाफ आंतरिक जांच शुरू की गयी है व उन्हें तब तक सस्पेंड कर दिया गया है। गुरुवार को ईडी की ओर से तलब किए जाने की बात को नकारते हुए मनोज कुमार ने कहा कि वह खुद से वहां पहुंचे हैं।

मनोज के समर्थन में उतरे दिलीप घोष

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने रोज वैली चिटफंड घोटाले की जांच कर रहे सस्पेंडेड ईडी अधिकारी मनोज कुमार के साथ खड़े होने का संकेत दिया है। उन्होंने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उनके पास जो जानकारी है, उसके अनुसार मनोज काफी सक्षम अधिकारी है। उन्होंने चिटफंड कंपनियों की 850 करोड़ रुपए जब्त किए हैं। घोष ने कहा कि देखना होगा कि कौन किसके हनी ट्रैप का शिकार हुआ। माना जा रहा है कि मनोज कुमार के साथ खड़ा होने का संकेत देकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कोलकाता पुलिस की उस जांच पर ही सवाल उठाया है जिसमें गौतम कुंडू की पत्नी शुभ्रा कुंडू के साथ मनोज कुमार के संबंध बताए जा रहे हैं। ईडी अधिकारी मनोज के बारे में और बताते हुए घोष ने कहा कि उन्हें मनोज की कार्यकुशलता पर कोई शक नहीं है। उनके बारे में पता चला है कि वे एक दक्ष अधिकारी हैं जिन्होंने कई चिटफंड कंपनियों की जांच काफी दक्षता के साथ की है तथा अब तक 850 करोड़ रुपए की जब्ती की है। वैसे दिलीप ने कहा कि ईडी, सस्पेंडेड मनोज के खिलाफ जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *