आपरेशन कर बच्ची के गले से निकाली गयी 10 सुई

कोलकाता समाज्ञा

कोलकाता के एक निजी अस्पताल के चिकित्सकों ने अपने जीवन के एक अनोखे केस में एक बच्ची का आपरेसन कर उसके गले से 10 सुइयां निकाली है। मंगलवार के दिन कोलकाता के चिकित्सक मनोज मुखर्जी के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक टीम ने लगभग तीन घण्टे के लंबे और सफल आपरेशन के बाद यह कारनामा किया है। बच्ची के परिजनों की माने तो नदिया जिले के कृष्णानगर अखय विद्यापीठ की आठवी की छात्रा आपरूपा गत 21 जुलाई को स्कूल से घर पहुँचने के बाद अपने गले मे दर्द की शिकायत अपने परिजनों से की। इसके बाद देर शाम खाना खाते समय वह अचानक से बेहोश हो गई। बेहोशी की हालत में आपरूपा को ईलाज के लिए कृष्णानगर अस्पताल में भर्ती कराया गया। कृष्णानगर अस्पताल के चिकित्सकों ने जब आपरूपा के गले का एक्सरे कराया तो उनके होश उड़ गए। इस दौरान पाया गया कि आपरूपा के गले मे एक दो नही बल्कि 10 सुई पड़ी हुई है। कैसे यह सुइयाँ आपरूपा के गले मे पहुंची उसे लेकर अब तक सस्पेंस बना हुआ है। बहरहाल कृष्णानगर अस्पताल के चिकित्सकों की सलाह पर आपरूपा के परिजन उसे इलाज के लिए कोलकाता ले गए। मंगलवार के दिन चिकित्सक मनोज मुखर्जी के नेतृत्व में चिकित्सकों की एक टीम ने करीब तीन घण्टे के लम्बे आपरेशन के बाद आपरूपा के गले मे फसे सभी 10 सुईयों को बाहर निकाल दिया है। डॉक्टर मनोज मुखर्जी ने बताया कि आपरूपा का ऑपरेशन सफल रहा और वह पूरी तरह से स्वास्थ्य है। डॉक्टर मनोज मुखर्जी भी बच्ची के गले मे सुईयों के पहुंचने की घटना पर आश्‍चर्य कर रहे है। डॉक्टर मनोज मुखर्जी ने बताया कि अक्सर गांव देहात में लोग जादू टोना के चक्कर में पड़कर इस तरह से इलाज करवाते देखे गए है। बहरहाल आपरूपा इस सफल ऑपरेशन के बाद स्वास्थ्य है लेकिन उसके गले मे इस तरह से इतनी बड़ी संख्या में सुई के पहुंचने की घटना के बाद सभी हतप्रभ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *