शिक्षक ने स्कूल में नाबालिग से किया दुष्कर्म!

उत्तेजित अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

कोलकाता : महानगर में एक शिक्षक द्वारा स्कूल में पढ़ने वाली एक नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। दुष्कर्म के आरोप में स्कूल के पेंटिंग के शिक्षक दीपक कर्मकार (58) को गिरफ्तार किया गया है। इस घटना के बाद स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों ने मंगलवार को घटना के खिलाफ स्कूल परिसर के बाहर प्रदर्शन किया। उक्त घटना ढाकुरिया स्थित सरकारी स्कूल की है। 6 वर्षीया पीड़िता छात्रा की मां ने बताया कि गत 26 सितंबर को बंद के दिन अभियुक्त शिक्षक ने बच्ची के साथ स्कूल परिसर में दुर्ष्कम की घटना को अंजाम दिया था। इस घटना के बारे में पता चलते ही पीड़िता की मां थाने पहुंची। उनका आरोप है कि यहां उसकी शिकायत थाना पुलिस द्वारा नहीं ली गयी। इसके बाद मंगलवार को स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों ने स्कूल की गेट के बाहर जम कर प्रदर्शन किया। आरोप है कि इस दौरान प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों ने उत्तेजित हो कर स्कूल में तोड़-फोड़ भी की। बताया जा रहा है कि अभिभावकों के विरोध प्रदर्शन के कारण स्कूल की छुट्टी के दौरान सभी विद्यार्थी अंदर ही फंसे रहे। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने विद्यार्थियों को स्कूल से बाहर निकाला। इसी क्रम में बाहर निकलते वक्त अभिभावकों ने कथित तौर पर एक शिक्षिका को पकड़ कर उसकी पिटाई भी कर दी।

प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि स्कूल के अंदर छिपे अभियुक्त शिक्ष को उनके हाथों में सौंप दिया जाए। कथित तौर पर ऐसा न होने पर अभिभावकों में उत्तेजना फैल गयी और उन्होंने स्कूल की गेट को तोड़ दिया। इसके साथ ही उनपर स्कूल में तोड़फोड़ का भी आरोप है। सुत्रों के अनुसार तभी पुलिस के साथ अभिभावकों की धककामुक्की हो गयी। आरोप है कि इस दौरान प्रदर्शनारियों पर काब्ाू पाने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज कर दी। इस लाठी चार्ज में एक महिला की सिर पर गहरी चोट आई और देखते ही देखते उसका चेहरा ख्ाून से लथपथ हो गया। लाठीचार्ज के दौरान अन्य लोगों के घायल होने की भी खबर सामने आई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सूचना पाकर मौके पर पहुंचे डीसी ईएसडी को घेर कर अभिभावकों ने नारेबाजी की। घटना की गंभीरता को देखते हुए रैफ को उतारा गया। लाठीचार्ज में घायल हुई एक महिला ने कहा कि पुलिस ने बिना किसी कारण लाठीचार्ज की है, अभिभावकों के प्रदर्शन को दबाने की कोशिश की जा रही है, मगर प्रदर्शन नहीं थमेगा। यह उनके बच्चों की सुरक्षा का सावाल है। उनकी मांग है कि अभियुक्त शिक्षक को कड़ी से कड़ी सजा मिले व स्कूल से पुरुष शिक्षकों को हटाया जाए। डीसी ईएसडी ने बताया कि अभियुक्त शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच में ज्ाुट गयी है। इस घटना में लगभग 10 पुलिस कर्मी उत्तेजित अभिभावकों का शिकार भी हुए। वहीं 4 लोगों को अहिंसा फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *