खराब मौसम में भी नहीं रोक सका मुख्यमंत्री को

चंद घंटे में की कई पूजा का उद्घाटन

-कहा, दो दिन बाद ठीक होगा मौसम

कोलकाता : बंगाल की खाड़ी पर बने दबाव के कारण चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने बुधवार को प्रचंड रूप ले लिया। तूफान धीरे-धीरे ओडिशा-आंध्र प्रदेश तट की ओर बढ़ रहा है। फिलहाल यह तूफान 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। लेकिन इसका प्रभाव कोलकाता सह गांगेय जिलों में सुबह से दिख रहा है। आसामन काले बादलों से भरा है तथा कहीं-कहीं हल्की बारिश भी हो रही है। लेकिन मामला जब बंगाल के सबसे बड़े उत्सव दुर्गा पूजा का हो तब आम जनता हो या स्वंय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उनके पांवों को ‘तितली’ अपने बंधन में नहीं बांध सकती। बुधवार दोपहर बाद कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खराब मौसम का परवाह किए बिना एक के बाद एक (चंद घंटे में) आधा दर्जन से भी अधिक पूजा पंडालों का उद्घाटन कर डाला। सिंघी पार्क में मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों को खराब मौसम से नहीं घबराने की सलाह देते हुए कहा कि मौसम का खराब मिजाज अगले 2 दिनों तक देखने को मिल सकता है, लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है, पूजा में मौसम ठीक हो जाएगा।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने फाल्गुनी संघ पूजा का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने बॉलीगंज कल्चरल एसोसिएशन, समाज सेवी संघ, हिंदुस्तान पार्क, शिव मंदिर, मुदियाली, त्रिधारी सम्मिलनी, भवानीपुर 62 पल्ली, भवानीपुर 76 पल्ली, मुक्त दल पूजा पंडालों का भी उद्घाटन किया। यहां कैबिनेट सहयोगी सुब्रत मुखर्जी(एकडलिया), चंद्रिमा भट्टाचार्य(हिंदुस्तान पार्क), मनीषा मित्र सह अन्य नेता भी उपस्थित थे। एकडालिया में सुब्रत मुखर्जी की पत्नी छंदवाणी मुखर्जी ने मुख्यमंत्री की पत्नी का बनारसी साड़ी भेंट की लेकिन मुख्यमंत्री ने उपहार उन्हें यह कहते हुए वापस भेंट कर दिया कि वे इसे कहां रखेंगीं? मालूम हो कि मुख्यमंत्री ने पिछले साल ही कहा था वे इस साल महालया के दिन से ही पूजा पंडालों का उद्घाटन करना शुरू करेंगीं। अपने वादे के अनुसार वे सोमवार से ही लगातार पूजा पंडालों का उद्घाटन कर रही हैं। इस बीच चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के चलते कोलकाता सह गांगेय जिलों में मौसम खराब हो रहा है। अलीपुर मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवाती तूफान का असर अगले 2-3 दिनों तक देखने को मिलेगा। गांगेय जिलों में तेज हवा के साथ भारी बारिश हो सकती है। लेकिन रविवार दोपहर बाद से मौसम में सुधार होगा तथा पूजा में बारिश की कोई संभावना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *