भाजपा का भगवा ‘नकली’: ममता

-कहा, गेरुआ पहनने से कोई साधु नहीं होता
-कटाक्ष, जो धर्म की बात करते, वे कुछ नहीं करते
-दावा, हिंदु धर्म अकेले किसी का नहीं

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को भाजपा पर तीखा हमला किया। दक्षिणेश्‍वर में स्काई वॉक का उद्घाटन करने के मौके पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा का भगवा ‘नकली’ है। उन्होंने भाजपा पर हमला तेज करते हुए कहा कि केवल गेरुआ पहनने से कोई साधु नहीं हो जाता। केवल धर्म की बातें करने वाले सच्चे अर्थों में कुछ भी नहीं करते। ममता ने भाजपा के साथ ही बिना नाम लिए आरएसएस व वीएचपी को भी निशाना बनाया। उन्होंने कहा कि हिंदु धर्म किसी अकेले का नहीं है। हिंदु धर्म सहिष्णुता के सिद्धांत व संस्कृति का प्रतिक है। ममता ने शिकायत के लहजे में कहा कि उन्हें शिकागो हिंदु धर्म सभा में आमंत्रित किया गया था। लेकिन उन्होंने रोक दिया। धमका कर कहा गया कि उन्हें वहां नहीं जाने दिया जा सकता। ममता ने सवाल किया कि केवल कुछ लोग ही हिंदु धर्म करेंगे और बाकी नहीं. 

मुख्यमंत्री ने सवाल किया कि विकास के कार्य में हिंदु-मुसलमान की बातें कहां से आती हैं? विकास तो सबके लिए बराबर होता है। इसकी कोई परिभाषा नहीं होती, लेकिन कुछ लोग इसे भी बांटने की कोशिश करते हैं जिनसे सावधान रहने की जरुरत है। ममता ने केंद्र सरकार में भगवाधारी मंत्रियों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मंत्री बनेंगे, एन्ज्वॉय करेंगे तथा गेरुआ भी पहनेंगे? उन्होंने कहा कि केवल धर्म की बातें करने वाले धर्म के बारे में कुछ जानते ही नहीं और करते भी नहीं। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममचा बनर्जी का भाजपा पर सीधे-सीधे यह अब तक का यह सबसे बड़ा हमला है। उन्होंने पहले भी भाजपा पर निशाना साधा था, लेकिन उन्होंने सोमवार को अब तक के सभी हमलों को पीछे छोड़ते हुए भाजपा के भगवा को नकली कहा जो राजनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने असम में एनआरसी पर?भी भाजपा व केंद्र सरकार की कड़े शब्दों में निंदा की थी। हाल ही में असम के तिनसुकिया में 5 बंगालियों की निर्मम हत्या की भी मुख्यमंत्री ने तीखा निंदा की। लेकिन सोमवार को उन्होंने सीधे-सीधे भाजपा व गेरुआधारियों को निशाना बनाया। साथ ही बंगाल में हिंदुओं का गेरुआ के प्रति बढ़ते रुझान को ध्यान में रखते हुए भी मुख्यमंत्री ने भाषण में हिंदु धर्म के बारे में काफी बातें की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *