स्वतंत्रता संग्राम के वक्त कहां थी भाजपा : ममता

-आरोप, मात्र हिंदु-मुसलाम में तनाव पैदा करती है
-कहा, बुलंदशहर पुलिस हत्याकांड सुनियोजित साजिश

कोलकाता/नंदीग्राम : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर भाजपा को निशाने पर लेते हुए सवाल किया है कि अभी राष्ट्रभक्ति का गुणगान करने वाली भाजपा स्वतंत्रता संग्राम के वक्त कहा थी? पूर्व मिदनापुर के नंदीग्राम में एक सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह केवल हिंदु व मुसलमान के नाम पर तनाव पैदा करना चाहती है। राजनीतिक फायदे के लिए लोगों में विभाजन पैदा करना ही उसका असली उद्देश्य है। मुख्यमंत्री ने यूपी के बुलंदशहर में कथित गौ रक्षकों के हमले में शहीद हुए पुलिस इंसपेक्टर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस की यह हत्या सोची-समझी साजिश का ही हिस्सा थी। सुनियोजित तरीके से ही पुलिस की हत्या की गई।

ममता ने कहा कि भाजपा करोड़ों रुपए बांट कर लोगों में भय फैला रही है। पूरे देश में रावण यात्रा के बारे में प्रचार कर रही है। वे लोगों से उनकी जाति, धर्म व गोत्र पूछ रही है। मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश के मुख्रमंत्री रोगी आदित्रनाथ का नाम लिरे बगैर हाल में राजस्थान में भगवान हनुमान को लेकर उनकी टिप्पणी का हवाला दिरा। आदित्रनाथ ने कहा था कि हनुमान एक दलित थे। पुलिस इंसपेक्टर की हत्या के पीछे साजिश बताते हुए ममता ने भाजपा आरोप लगाया कि वे असम से बंगालियों को भगा रहे हैं। गुजरात से बिहारियों को खदेड़ रहे हैं। इतना ही नहीं देश से कभी हिंदुओं को, तो कभी मुसलमानों को भगाएंगे। उन्होंने कहा कि बुलंदशहर में पुलिस इंसपेक्टर की हत्या कर दी गई। हम पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना जताते हैं तथा परिवार के साथ भी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने 34 सालों तक माकपा के हर्मदों(गुंडा वाहिनी) का जुल्म झेला है। लेकिन अब नहीं सहेंगे। उन्होंने कहा कि हमने बंगाल को माकपा के हर्मदों से बचाया। लेकिन वे ही हर्मद अब भाजपा के साथ हो गए हैैं और वे ही अब बड़े नेता बन रहे हैं। उन्हें शर्म नहीं आती? लेकिन हम अब बर्दास्त नहीं करेंगे। उन्हें बंगाल से भगा कर रहेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह उनके लिए चुनौती है, जिसे वे स्वीकार करती हैं।
हत्या की साजिश : मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां उनकी हत्या की साजिश हुई?थी। लेकिन वे डरीं नहीं, झूकी नहीं। उन्होंने कहा कि राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी ने इस बारे में उन्हें एक व्यक्ति से संदेश भेजा था। लेकिन वे भागी नहीं तथा सिंगुर व नंदीग्राम में लड़ाई लड़ी। अब अगर कोई बंगाल को दोबारा अस्थिर करने की कोशिश करेगा तो वे उसे भी छोड़ेंगी नहीं। बंगाल से सारे हर्मदों को भगा कर रहेंगीं। इससे पहले मुख्यमंत्री ने पूर्व मिदनापुर के बाजकुल में एक सरकारी कार्यक्रम में 10 हजार से अधिक लाभार्थियों में विभिन्न सरकारी योजनाओं की चीजें वितरीत की। उन्होंने कई परियोजनाओं का शिलान्यास, उद्घाटन व सरकारी सेवाओं का उद्घाटन भी किया। मुख्यमंत्री 5 दिवसीय पू. व प. मिदनापुर जिले के दौरे पर हैं।

सिंगुर में बनेगी 40 फीट ऊच्ची मीनार : कृषि जमीन आंदोलन की याद में सरकार ने सिंगुर में एक मीनार बनाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अप्रैल में सिंगुर में प्रशासनिक बैठक की थी। बैठक में उन्होंने इसकी घोषणा की थी। मीनार सिंगुर के सिंहेरभेड़ी में बनेगा। लगभग एक एकड़ जमीन पर बनने वाले मीनार व अन्य मदों में करीब 6 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसके लिए पीडब्ल्यूडी ने निविदा पत्र जारी कर दिए हैं। नवान्न सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री ने अभी तक 3 नक्शे देखे हैं जिसमें उन्हें एक नक्शा पसंद आया है। अंतिम निर्णय बाकी है। मीनार का निर्माण कार्य दिसम्बर में शुरू होने की संभावना है जिसे निविदा में 300 दिनों में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *