समाज्ञा

आसनसोल के मेयर पर दर्ज हो शिकायत : हाईकोर्ट

-पंचायत चुनाव में भाजपा नेता पर हमले का आरोप
कोलकाता :  कलकत्ता हाईकोर्ट ने एक?भाजपा उम्मीदवार पर हमला करने व उसके साथ मारपीट करने की घटना में दायर याचिका की सुनवाई के बाद तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी के खिलाफ पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए बुधवार को तिवारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के साथ ही पुलिस से मामले में रिपोर्ट भी देने का आदेश दिया। अदालत सूत्रों के अनुसार पुलिस को आगामी मंगलवार तक प्राथमिकी दर्ज कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है। आसनसोल के मेयर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने व पुलिस को रिपोर्ट देने का आदेश देने की घटना तृणमूल कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है, क्योंकि पंचायत चुनाव के दौरान विपक्षी दलों ने तृणमूल पर बड़े स्तर पर हिंसा करने का आरोप लगाया था। मामला, हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट तक गया था।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत चुनाव के दौरान नामांकन करने जाते हुए भाजपा नेता व उम्मीदवार दलपति उर्फ लखन घड़ुई के जुलूस पर हमला हुआ?था। आरोप है कि हमले का आरोप तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर लगा था जिसका नेतृत्व मेयर जितेंद्र तिवारी कर रहे थे। हमले के दौरान भाजपा नेता पर धारदार हथियार से हमला भी हुआ?था जिसमें उनकी हाथ में गंभीर चोट भी लगी थी। इस दौरान एक दूसरे भाजपा समर्थक ने घटना की वीडियोग्रॉफी भी की थी। भाजपा का आरोप था कि वीडियोग्रॉफी दिखाने के बावजूद भी दुर्गापुर थाने की पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी। इसके बाद भाजपा ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। बुधवार को मामले की सुनवाई करते हुए दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद हाईकोर्ट ने मेयर के खिलाफ पुलिस के 19 जून(मंगलवार) तक प्राथमिकी दर्ज करने के साथ ही घटना की रिपोर्ट भी जमा करने का आदेश दिया। मालूम हो कि पंचायत चुनाव के दौरान राज्य में बड़े स्तर पर हिंसा हुई थी। कई लोगों की जान भी गई थी। विपक्षी दलों ने हिंसा के लिए सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराया था। हालांकि, तृणमूल ने आरोप से इनकार किया था। लेकिन ऐसे में जब पंचायत चुनाव संपन्न हो गया है तथा एक माह के अंदर बोर्ड गठन होने की प्रक्रिया भी शुरू होने वाली है, मेयर जितेंद्र तिवारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश से तृणमूल कांग्रेस की परेशानी बढ़ सकती है।