दिवाली से पहले ममता ने दी स्काई वॉक का उपहार

-कहा, इच्छा हो तो काम किया जा सकता है
-दावा, हॉकरों को भड़का रही थी 3 पार्टियां

कोलकाता/दक्षिणेश्‍वर : दीपावली के पहले ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को दक्षिणेश्‍वर में 60 करोड़ रुपए की लागत से 380 मीटर लंबे स्काई वॉक का उद्घाटन किया जिसे राज्य के लोगों के लिए बड़ा उपहार माना जा रहा है। इसे मंगलवार काली पूजा के दिन से ही आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। इसके माध्यम से मंदिर जाने वाले लोग स्टेशन से सीधे मंदिर तक पहुंच सकेंगे। यह स्काई वॉक देश में अपनी तरह का पहला स्काई वॉक है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर इच्छा शक्ति हो तो काम किया जा सकता है। स्काई वॉक का विरोध करने वालों पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 3 दलों ने यहां कन्वेंशन किया था। यह मुद्दा हाईकोर्ट तक पहुंचा था। लेकिन हाईकोर्ट के न्यायधीशों का हम सम्मान करते हैं जिन्होंने इसे बनने में आ रही सारी बाधाओं को दूर किया। ममता ने कहा कि कुछ लोग स्काई वॉक के खिलाफ हॉकरों को भड़का रहे थे। लेकिन यहां उनके लिए भी इंतजाम है।

ममता ने कहा कि हॉकरों के लिए 167 स्टॉल बने हैं जो उन्हें अगले 7 दिनों में उन्हें दे दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि दक्षिणेश्‍वर-बेलूर का अंतराष्ट्रीय इतिहास है। उन्होंने कहा कि यहां जो भी विकास कार्य हो रहा है, स्काई वॉक बना है, क्या हम अपने साथ ले जाएंगे? यह हमारे लिए गर्व की बात है। उन्होंने जानकारी दी कि यहां लाईट एंड साउंड के लिए टेंडर हो गया है। उम्मीद है कि प्रक्रिया जल्द ही पूरी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्काई वॉक का रख-रखाव करना होगा। मालूम हो कि स्काई वॉक का नामकरण रानी रासमणी के नाम पर किया गया है। इसकी चौड़ाई 10.5 मीटर है। इसमें 14 एस्कलेटर, 8 सिढ़ियां, 4 लिफ्ट, सीसीटीवी, फायर अलार्म सिस्टम के साथ ही आग बुझाने के लिए अत्याधुनिक स्प्रिंगलर आदि लगे हैं। यहां थ्री-डी लाइटिंग की भी व्यवस्था है। स्टेशन से स्काई वॉक के माध्यम से सीधे मंदिर तक पहुंचा जा सकता है। इसके चालू होने से दक्षिणेश्‍वर के आसपास भीड़ व ट्रैफिक जाम की समस्या से राहत मिलेगी। यहां बन परे मेट्रो रेल को ध्यान रखते हुए स्काई वॉक में व्यवस्था किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *