ममता की रैली में जाने का फैसला मिलकर लेंगे : सुरजेवाला

-कहा, प्रभारी-प्रदेश अध्यक्ष से होगा परमार्श

-दावा, राज्य दर राज्य होगा दलों संग गठबंधन
कोलकाता :  मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा था कि 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ 19 जनवरी की ब्रिगेड रैली में वे कांग्रेस उध्यक्ष राहुल गांधी व पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को भीआमंत्रित करेंगीं। ममता के इस बयान के जवाब में कांग्रेस के कम्यूनिकेशन इंचार्ज रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को कहा कि ममता बनर्जी की रैली में जाने का फैसला दिल्ली(एआईसीसी) प्रदेश नेताओं संग विचार कर लेगा साथ ही उन्होंने दावा किया कि अंतिम फैसला लेने से पहले बंगाल के प्रभारी गौरव गोगोई व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा के साथ भी विचार विमर्श किया जाएगा। हालांकि, कांग्रेस नेता ने स्पष्ट किया कि भाजपा के खिलाफ दलों के साथ राज्य दर राज्य गठबंधन होंगे।

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस एक लोकतांत्रित पार्टी है तथा प्रदेश इकाइयों को महत्व देती है। उनके फैसलों के साथ ही एआईसीसी भी निर्णय लेती है। तृणमूल के साथ समझौते की संभावना का सीधा-सीधा जवाब देने से परहेज करते हुए उन्होंने कहा कि माकपा व कांग्रेस में राजनीतिक व वैचारिक मतभेद हैं। दोनों केरल, बंगाल व त्रिपुरा में एक दूसरे के खिलाफ चुनाव भी लड़ते हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर देशहित में बड़े फैसले में दोनों एक साथ खड़े रहते हैं। ऐसे में ममता बनर्जी की रैली में शामिल होने के बारे में अंतिम फैसला प्रदेश नेताओं के विचार सुनने व सलाह लेने के बाद ही होगा। इस बारे में सोमेन मित्रा ने कहा कि कौन किसके साथ जाएगा, इस बारे में वे कुछ नहीं जानते। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस को अपने पैर पर खड़े होने को कहा है। कांग्रेस को मजबूत होने के लिए कहा है, हम उसी का पालन करेंगे। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि विरोधी दलों को साइनबोर्ड में तब्दील करना ही ममता बनर्जी की राजनीति है।
राज्य दर राज्य गठबंधन ः कांग्रेस नेता ने मायावती के बाद अखिलेश यादव द्वारा गठबंधन की संभावना से इनकार करने के सवाल पर कहा कि महागठबंधन की बात मीडिया की देन है। पार्टी ने कभी भी किसी स्तर पर ऐसी बात नहीं कही है। उन्होंने स्पष्ट किया कि हां, बातचीत हुई?थी, लेकिन मायावती की अधिक सीटों की मांग नाजायज व गैर राजनीतिक थी। सुरजेवाला ने हालांकि, स्पष्ट किया कि भाजपा के खिलाफ 2019 में राज्य दर राज्य गठबंधन होंगे तथा विपक्ष की सरकार बनेगी।

मोदी सरकार को घेरा : राफेल डील, बैंक घोटाला, आईएल एंड एफएल निवेश आदि मुद्दे पर मोदी सरकार की खींचाई करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के चलते ही 132 करोड़ देशवासियों को भारी आर्थिक बोझ झेलना पड़ रहा है। उन्होंने सवाल किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जवाब दें कि वे देश के प्रधानमंत्री हैं या अनिल अंबानी के प्रधानमंत्री हैं??उन्होंने दावा किया कि राफेल सौदा देश के 71 साल के इतिहास का सबसे बड़ा रक्षा सौदा घोटाला साबित होगा।

मोदी की सभा के लिए टाली रैली : सुरजेवाला ने चुनाव आयोग द्वारा प्रेस वार्ता टालने के बारे में सवाल किया कि प्रेस वार्ता के लिए आयोग को क्या गन, कैनन या दूसरे हथियार व साजो-सामान की जरुरत होती है??उन्होंने आरोप लगाया कि आयोग ने गुजरात व हिमामल प्रदेश चुनाव के दौरान भी ऐसा ही किया था। लेकिन जनता सब समझ रही है। जनता आयोग से निष्पक्षता व स्वायत्ता की उम्मीद करती है जो नहीं दिखी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *