ममता ने की भगवान जगन्नाथ की पूजा

हुईं इस्कॉन की रथ यात्रा में शामिल

कहा, धर्म जीवन का अभिन्न हिस्सा

कोलकाता, समाज्ञा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को रथ यात्रा के मौके पर महानगर में इस्कॉन द्वारा संचालित रथोत्सव में भगवान जगन्नाथ की पूजा की। उन्होंने आरती भी की। इस दौरान ममता ने कहा कि यहां काफी संख्या में श्रद्धालू उपस्थित हुए हैं। इस्कन व महेश के रथ के अलावा भी पूरे राज्य में रथोत्सव काफी उत्साह व धूमधाम से मनाया जाता है। यह पूरे विश्‍व में काफी उत्साह से मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि हमें यह ध्यान रखना होगा कि धर्म हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा है, भले ही हमारा कोई भी धर्म हो। उत्सव सभी के लिए मिलजुल कर मनाने का मौका होता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रथ यात्रा सभी के लिए होता है। श्रद्धालू भगवान जगन्नाथ, बलभद्र व सुभाद्रा के रथ को खींच कर स्वयं को पवित्र करते हैं। ममता ने कहा कि भगवनान जगन्नाथ भक्तों द्वारा दुनिया में सभी के लिए नाथ माने जाते हैं। उन्होंने कहा कि कोलकाता की मां काली मंदिर व पुरी के भगवान जगन्नाथ मंदिर के बीच गहरा रिश्ता भी है। उन्होंने कहा कि इस मौके पर सभी की बेहतरी, खुशी व अच्छे स्वास्थ्य के लिए भगवान से प्राथना की। उन्होंने कहा कि बंगाल के साथ ही पूरे देश तथा दुनिया में शांति के लिए भगवान जगन्नाथ से प्रार्थना की। मालूम हो कि रथ रात्रा इस्कॉन द्वारा 1971 से ही आरोजित की जा रही है। रथरात्रा में बड़ी संख्रा में श्रद्धालु शामिल हुए जिन्होंने इस मौके पर भगवान जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा के रथ खींचे। मुख्यमंत्री और राज्रपाल के एन त्रिपाठी ने रथ रात्रा महोत्सव की राज्र के लोगों को बधाई दी थी। इस्कॉन सूत्रों ने कहा कि अल्बर्ट रोड पर इस्कॉन मंदिर के सामने स्थित हंगरफोर्ड स्ट्रीट से शुरू होने वाली रथरात्रा एजेसी बोस रोड , सरत बोस रोड, हाजरा रोड, एसपी मुखर्जी रोड, एटीएम रोड, एक्साइड चौराहा, जेएल नेहरू रोड, आउट्राम रोड से होते हुए ब्रिगेड परेड मैदान पहुंचेगी। वहां पर 22 जुलाई तक भगवान जगन्नाथ के प्रतिदिन विशेष दर्शन के लिए इंतजाम किए गए हैं। उल्टा रथ रात्रा 22 जुलाई को दोपहर से शुरू होगी जब रथ अल्बर्ट रोड मंदिर लौटेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *