रथरात्रा राजनीतिक खेल बदलने वाली साबित होगी : दिलीप

-कहा, पार्टी के पक्ष में निर्णायक लहर की शुरुआत होगी 

कोलकाता : लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा बंगाल में सात दिसंबर से शुरू हो रही रथ रात्रा के लिए पूरी तरह तैरार है। पार्टी का दावा है कि रह रात्रा प्रदेश की राजनीति में तस्वीर बदलने वाली साबित होगी। भाजपा अध्रक्ष अमित शाह लोकतंत्र बचाओ रैली के साथ इस अभिरान की शुरुआत करेंगे। अभिरान की शुरुआत 7 दिसंबर को कूचबिहार, 9 दिसंबर को दक्षिण 24 परगना के काकद्वीप(सागर) और 14 दिसंबर को वीरभूम जिले में तारापीठ मंदिर से शुरू किए जाने का कार्रक्रम है। भाजपा प्रदेश अध्रक्ष दिलीप घोष ने कहा कि रथ रात्रा बंगाल की राजनीति में तस्वीर बदलने वाली साबित होगी। इससे भाजपा के समर्थन में एक लहर की शुरुआत होगी जो आगामी आम चुनावों में निर्णारक भूमिका निभाएगी। हालांकि, सरकार द्वारा अभी भी इसे अनुमति नहीं देने पर हाईकोर्ट से न्याया की अपेक्षा करते हुए?घोष ने कहा कि उम्मीद है कि रथ यात्रा को अनुमति जरुर मिलेगी।
घोष ने कहा कि बंगाल में भाजपा की रह सबसे बड़ी राजनीतिक अभिरान होगी जिसमें दस हजार किलोमीटर की रात्रा की जाएगी। कुल 41 दिन तक चलने वाली रह रथ रात्रा पश्‍चिम बंगाल की सभी 42 लोकसभा सीटों से होकर गुजरेगी। वहीं, भाजपा सूत्रों क कहना है कि इसके लिए 3 वातानुकूलित बसों को सजाकर तैरार किरा गरा है जिन पर बंगाल में जन्मी जानी-मानी हस्तिरों नेताजी सुभाष चंद्र बोस और स्वामी विवेकानंद की तस्वीरें लगाई गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्रक्ष अमित शाह के अलावा पार्टी के शीर्ष नेता राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, रमन सिंह, रोगी आदित्रनाथ, उमा भारती और गिरिराज सिंह रात्रा में हिस्सा लेंगे। मोदी 2019 के लोक सभा चुनाव के मद्देनजर रहां 4 रैलिरों को संबोधित भी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *