उलुबेड़िरा-नोआपाड़ा में मतदान संपन्न

-विपक्ष ने लगाया धांधली-हिंसा का आरोप

कोलकाता : उलुबेड़िया लोकसभा और नोअपाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए सोमवार को मतदान संपन्न हो गया। विपक्षी दलों ने सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर मतदान में हिंसा व बूथ दखल करने का आरोप लगाया। वहीं, तृणमूल ने कहा कि हार के भय से विपक्ष अभी से बहानेबाजी कर रहा है। मतगणना एक फरवरी को होगी। एक वरिष्ठ चुनाव अधिकारी ने बतारा कि उलुबेड़िरा और नोआपाड़ा में पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा। दोनों सीटों पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है. माकपा भी खोई जमीन वापस पाने की पूरी कोशिश में हैं। कांग्रेस भी अपनी जोर लगाई है। मुकुल ने कहा कि बंगाल में लोकतंत्र के साथ दुष्कर्म हो रहा है। उन्होंने कहा कि उलबेड़िया व नोआपाड़ा में जो हुआ, वह लोकतंत्र के लिए उपहास है।

इन दोनों सीटों के उपचुनाव के नतीजे एक फरवरी को घोषित होंगे। तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुलतान अहमद के निधन के बाद उलुबेड़िरा सीट पर उपचुनाव हो रहा है। वहीं, कांग्रेस विधारक मधुसुदन घोष के निधन की वजह से नोआपाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है। उलुबेड़िया से तृणमूल ने सुलतान अहमद की पत्नी साजदा अहमद को उम्मीदवार बनारा है। माकपा की अगुवाई वाली वाम मोर्च ने एस केे मुदस्सर हुसैन वारसी को टिकट दिरा है। भाजपा की तरफ से अनुपम मलिक उम्मीदवार हैं। इस लोकसभा सीट के उपचुनाव में पांच अन्र निर्दलीर उम्मीदवार भी है। नोआपाड़ा से तृणमूल कांग्रेस के सुनील सिंह उम्मीदवार हैं। माकपा ने गार्गी चटर्जी, कांग्रेस ने गौतम बोस और भाजपा ने संदीप बनर्जी को उम्मीदवार बनारा है।

तृणमूल जनता से डरती है ः इस बीच भाजपा प्रदेश दिलीप अध्यक्ष दिलीप घोष ने सोमवार को अस्पताल से छुट्टी के बाद कहा कि तृणमूल ने हिंसा व बूथ दखल की राजनीति की। उन्होंने कहा कि तृणमूल को जनता पर भरोसा नहीं है। तृणमूल जनता से डरती है, इसीलिए उसने उलबेड़िया व नोआपाड़ा में हिंसा व बूथ दखल की। उलबेड़िया के गंगारामपुर में भाजपा नेताओं पर हमले हुए लेकिन पुलिस ने भाजपा कर्मी को ही गिरफ्तार कर लिया।

कांग्रेस कर्मी को लगी गोली ः  इस बीच कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि नोआपाड़ा में तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने न केवल बूथ दखल की बल्की विरोध करने पर बम व गोली से हमला किया। तृणमूल के गुंडों ने एक कांग्रेस कार्यकर्ता को गोली भी मार दी। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि केंद्रीय सुरक्षा बलों को जिला प्रशासन ने अच्छी तरह तैनात नहीं किया। पुलिस ने तृणमूल का साथ दिया।

लोकतंत्र की हत्या ः माकपा नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा कि उलबेड़िया व नोआपाड़ा उपचुनाव में जो हुआ, वह लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने आरोप लगाया कि उपचुनाव पूरी तरह आपराधिक अंदाज में  बूथ दखल व रिगिंग कर हुआ। माकपा नेता ने कहा कि तृणमूल जनता से डर गई है, इसीलिए उसने हिंसा, बूथ दखल व रिंगिग का सहारा लिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *