पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर समेत देशभर में तैयार हो रहे हैं 21 ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट्स

करोड़ों रुपये की लागत से किया जाएगा बागडोगरा एअरपोर्ट का विकास

मौमिता भट्टाचार्य

कोलकाता, समाज्ञा : विश्व के अन्य देशों की तुलना में भारत कहीं अधिक तेजी से विकास कर रहा है। इस विकास का श्रेय केवल केन्द्र ही नहीं देश के प्रत्येक राज्य की सरकार को भी जाता है जो विभिन्न प्रकार की राजनीतिक मतभेदों के बावजूद देश के विकास में एक-दूसरे के साथ कदमताल मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। इसी क्रम में देश के विभिन्न राज्यों में ‘ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट्स’ का निर्माण किया जा रहा है ताकि खास से लेकर आम तक हर व्यक्ति हवाई यात्रा के इस माध्यम से जुड़ सके। साथ ही साथ यातायात के इस तेज संसाधन में आधुनिकता को बनाए रखने के लिए करोड़ों रुपये की लागत से पुराने एअरपोर्ट का विकास भी किया जा रहा है। पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में जहां एक नए ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट का निर्माण किया गया है जिसका संचालन भी शुरू हो चुका है। वहीं दूसरी तरफ बागडोगरा एअरपोर्ट का विकास किया जा रहा है ताकि इससे अधिक से अधिक यात्रियों को फायदा मिल सकें।

क्या है ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट : ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट उन एअरपोर्ट्स को कहते हैं, जो ऐसी जगहों पर बने होते हैं, जहां पहले एअरपोर्ट का कोई अस्तित्व नहीं था। यानी सरल भाषा में यदि कहा जाए तो ऐसे शहरों में बने नये एअरपोर्ट्स को ‘ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट’ कहा जाता है, जहां पहले एअरपोर्ट नहीं था। उदाहरण के लिए हैदराबाद का राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय एअरपोर्ट एक ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट है लेकिन दिल्ली या कोलकाता एअरपोर्ट ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट नहीं होगा, क्योंकि यहां पहले से ही एअरपोर्ट अस्तित्व में है।

इन शहरों में बन रही है ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट्स : पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट का निर्माण किया गया है जिसका संचालन भी शुरू हो चुका है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इसे बनाने में करीब 670 करोड़ रुपये की लागत आयी है। इसके अलावा गोवा में मोपा, नवीमुंबई, शिरडी, सिंधुदुर्ग, कालाबुर्गी, विजयपुरा, हसन, शिवमोग्गा, डाबरा (ग्वालियर), नोएडा (जेवर), धोलेड़ा, हीरासर, कराईकाल (पुडुचेरी), दगदार्थी (नेल्लोर), भोगपुरम, ओरवाकल, पैक्योंग, कन्नुर, ईटानगर में ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट का निर्माण किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक इनमें से दुर्गापुर समेत शिरडी, सिंधुदुर्ग, कलबुर्गी, कुशीनगर एअरपोर्ट का संचालन शुरू हो चुका है।

करोड़ों रुपये की लागत से हो रहा है बागडोगरा एअरपोर्ट का विकास : उत्तर बंगाल से राज्य और देश के दूसरे हिस्सों जोड़ने के साथ-साथ पर्यटकों के लिए भी बागडोगड़ा एअरपोर्ट काफी महत्वपूर्ण है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बागडोगरा एअरपोर्ट के विकास के लिए एअरपोर्ट्स अथॉरिटिज ऑफ इंडिया (एएआई) ने करीब 1884 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना बनायी है। राज्य सरकार ने मार्च 2022 को बागडोगरा एअरपोर्ट के विकास के लिए 98.72 एकड़ जमीन भी एएआई को सौंप दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार विभिन्न विभागों से क्लियरेंस और आर्थिक अनुमोदन मिलने के बाद दिसंबर 2022 से इसका विकास कार्य शुरू किया जाएगा जिसे जून 2025 तक संपन्न करने की योजना है।

ग्रीनफिल्ड एअरपोर्ट के लिए सर्वाधिक स्वीकृत राशी के आंकड़े

महाराष्ट्र में नवी मुंबई एअरपोर्ट – 19, 646 करोड़ रुपये
उत्तर प्रदेश में नोएडा (जेवर) एअरपोर्ट – 8, 914 करोड़ रुपये
गोवा में मोपा एअरपोर्ट – 3000 करोड़ रुपये
आंध्रप्रदेश में भोगपुरम एअरपोर्ट – 2,500 करोड़ रुपये
केरल में कन्नूर एअरपोर्ट – 2,342 करोड़ रुपये
गुजरात में हीरासर (राजकोट) एअरपोर्ट – 1,405 करोड़ रुपये
गुजरात में धोलेरा एअरपोर्ट – 1,305 करोड़ रुपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *