अर्जुन सिंह 6 साल के लिए सस्पेंड : पार्थ

-आरोप, तृणमूल को पीछे से चाकू मारने की साजिश
-घोषणा, अर्जुन के भाई संजय सिंह तृणमूल में शामिल

कोलकाता : भाटपाड़ा के विधायक अर्जुन सिंह के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने उन्हें शुक्रवार को पार्टी से 6 साल के लिए सस्पेंड कर दिया। पार्टी के फैसले की जानकारी देते हुए तृणमूल कांग्रेस महासचिव पार्थ चटर्जी ने शुक्रवार को विधान भवन में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तृणमूल कांग्रेस को पीछे से चाकू मारने की साजिश हुई, लेकिन यह सफल नहीं हुई। एक-दो लोग पार्टी छोड़ कर गए हैं, लेकिन भाटपाड़ा के कई नेता जिसमें संजय सिंह भी हैं, तृणमूल में शामिल हुए हैं। उनके साथ भाजपा नेता धरमपाल गुप्ता भी तृणमूल में शामिल हो गए हैं। पार्थ ने जोर देकर कहा कि भाटपाड़ा पालिका पर तृणमूल का कब्जा बरकरार रहेगा।

कचरापाड़ा के नेता को उम्मीदवार की तलाश : भाजपा पर निशाना साधते हुए पार्थ ने कहा कि भाजपा जन-विरोधी नीतियों वाली पार्टी है। इस पार्टी का काम देश व जनता को बांटना है। भाजपा नेता मुकुल राय पर तंज कसते हुए पार्थ ने कहा कि कचरापाड़ा के एक नेता को एक पार्टी के लिए उम्मीदवार की खोज में हैं। लेकिन उनकी तलाश खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। वे लगातार तलाश जारी रखे हुए हैं। मुकुल कटाक्ष करते हुए तृणमूल महासचिव ने कहा कि जैसे खाली घड़ा अधिक बजता है, वैसी ही उनकी भी दशा है। उन्होंने और कहा कि बंगाल की जनता ममता बनर्जी पर विश्वास करती है तथा उनके साथ ही है। पार्थ ने सवाल किया कि बंगाल में विपक्ष है कहां? उसके पास तो अभी तक उम्मीदवार नहीं हैं। तृणमूल को हराने की बात तो वे बाद में ही सोचे तो बेहतर है। जीत के प्रति आश्वस्त तृणमूल नेता ने कहा कि बंगाल में पार्टी को सभी सीटों पर जीत मिलेगी तथा विपक्ष को एक बार फिर हाथ मलना पड़ेगा।


सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज : इस बीच पूर्व तृणमूल विधायक(अब भाजपा) अर्जुन सिंह के खिलाफ टीटागढ़ थाने में प्राथमिकी दर्ज होने की खबर है। जिला पुलिस सूत्रों के अनुसार टीटागढ़ थाने में एक युवा तृणमूल कांग्रेस समर्थक ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस व ममता बनर्जी के बारे में की गई उनकी कथित टिप्पणी से पार्टी के सम्मान को ठेस पहुंचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *