हिंदु-मुस्लिम की राजनीति कर रही भाजपा : ममता

-आरोप, 22 लाख हिंदुओं का नाम एनआरसी से काटा

-तंज, एनआरसी व नागरिक बिल हैं दो लॉलीपॉप

कोलकाता/गुवाहाटी : पश्‍चिम बंगाल से बाहर दूसरी बार दूसरे राज्य में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए तृणमूल सुप्रीमो व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर चुनाव के दौरान लोगों को हिंदु व मुसलमान के नाम पर बांटने की राजनीति करने का गंभीर आरोप लगाया। असम के धूपगुड़ी में पार्टी उम्मीदवार के समर्थन में सभा को संबोधित करते हुए ममता ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम की जनता को मूर्ख बनाने के लिए नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स(एनआरसी) और नागरिकता बिल जैसे ’दो लालीपॉप’ लेकर आए हैं। यह केवल चुनावी प्रलोभन है। ममता ने आरोप लगाया कि असम के 40 लाख लोगों के नाम एनआरसी में शामिल नहीं किए गए हैं। इनमें 22 लाख से अधिक हिंदु हैं। ममता ने आश्‍वस्त किया कि ऐसे लोगों के साथ तृणमूल कांग्रेस बिना किसी भेदभाव के खड़ी है। ममता ने दावा किया कि आने वाले दिनों में दिल्ली की कुर्सी जीतेंगे।

तृणमूल उम्मीदवार के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए ममता ने कहा कि असम के लोगों को मूर्खबनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एनआरसी और नागरिकता (संशोधन) विधेयक के दो लॉलीपॉप दिए हैं। लेकिन तृणमूल कांग्रेस असम के उन सभी 40 लाख लोगों(हिंदू-मुसलमान) के साथ है जिनके नाम एनआरसी में नहीं हैं। ममता ने कहा कि किसी भी अन्य दल ने ऐसे लोगों का समर्थन नहीं किया जिनके नाम एनआरसी में नहीं है। उन्होंने दावा किया कि हम ऐसे लोगों के साथ हमेशा से रहे हैं। उन्होंने कहा कि तृणमूल को डरा-धमका कर काम नहीं होगा। हम किसी से डरने वाले नहीं हैं। ममता ने दावा किया कि न केवल मुस्लिम वरन् 22 लाख हिंदुओं के नाम भी एनआरसी में शामिल नहीं हैं। तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि भाजपा नागरिकता बिल लोगों को विदेशी बनाने के लिए ला रही है। ममता ने मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी झूठे हैं और हमेशा से ही लोगों को मूर्ख बनाते आए हैं। पांच साल पहले मोदी कहते थे कि वह चायवाला हैं और अब वह यह भूल गए हैं कि चाय कैसे बनाई जाती है। मालूम हो कि नॉर्थ ईस्ट का प्रवेश द्वारा असम में असमिया अस्मिता का मुद्दा काफी अहम दिख रहा है। ब्रह्मपुत्र नदी और चाय के बागानों वाले असम में एनआरसी और नागरिकता संशोधन बिल अभी भी अंडरकरंट के तौर पर मौजूद है। इसी को देखते हुए ममता ने मोदी पर हमला बोला है। मालूम हो कि तृणमूल कांग्रेस ने इस बार असम में 10 उम्मीदवार उतारे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *