बदलनी होगी दिल्ली की सरकार :ममता

-दावा, भाजपा को नहीं मिलेंगे 100 सीट

-कर्सियांग में पीएम मोदी पर तीखा हमला

-आरोप, सेना का राजनीतिकरण इस्तेमाल

कोलकाता/कर्सियांग : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को कर्सियांग की सभा से बंगाल में भी असम की तर्ज पर एनआरसी लागू करने की धमकी दी थी। तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने उसी कर्सियांग में शुक्रवार को अमित शाह पर पलटवार करते हुए चुनौती दी की कि बंगाल में एनआरसी लागू करके दिखाएं। पहले इटाहार में होने वाली सभा को रद्द कर पूर्व घोषित नीति के तहत भाजपा अध्यक्ष की रैली के जवाब में कर्सियांग में रैली को संबोधित करते हुए ममता ने दावा किया कि 543 सीटों में भाजपा को 100 सीट से अधिक नहीं मिलेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा पर तीखा हमला करते हुए कहा कि वे राजनीतिक फायदा के लिए सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं। गोरखा रेजिमेंट हमारे लिए गर्व की बात है। लेकिन तृणमूल कांग्रेस ने कभी भी ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि केंद्र में किसी दल को बहुमत नहीं मिलेगा तथा अगली सरकार में तृणमूल की अहम भूमिका होगा। उन्होंने आह्वान किया कि दिल्ली की सरकार बदलनी ही होगी। ममता दार्जिलिंग सीट से तृणमील उम्मीदवार अमर हिंस राई के समर्थन में रैली को संबोधित कर रहीं थीं।

केंद्र में तृणमूल की भूमिका ः ममता ने कहा कि 2 नम्बर ईवीएम में वोट मत दीजिएगा। लेकिन एक नम्बर मशीन में पहले ही नम्बर पर हमारे उम्मीदवार अमर सिंह राई हैं। उन्हें वोट देें। दूसरे ईवीएम में नोटा होगा। उसमें वोट नहीं देना है। ममता ने कहा कि दो ईवीएम होंगे। एक में 16 उम्मीदवारों के नाम होंगे। उन्होंने दावा किया कि केंद्र में अगली सरकार क्षेत्रीय दलों की होगी। और इस सरकार में तृणमूल कांग्रेस की अहम भूमिका होगी। ममता ने वादा किया कि हम दार्जिलिंग, कलिम्पोंग व कर्सियांग के लिए लगातार विकास कार्य करते रहेंगे। हम सबके साथ है।

पीएम पर फैसला बाद में : भाजपा द्वारा प्रधानमंत्री पद के सवाल पर ममता ने कहा कि फिलहाल हमारा लक्ष्य केंद्र से मोदी व भाजपा को हटाना है। चुनाव में जीतने के बाद हम प्रधानमंत्री पद के बारे में बैठकर फैसला लेंगे। ममता ने कहा कि हम मिलकर केंद्र में सरकार बनाएंगे। उन्होंने जोर देकर कहा कि वे(भाजपा) कैसे सरकार बनाएंगे। उन्हें तो 543 सीटों में 100 से अधिक सीटें नहीं मिलेंगी। तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि एनआरसी के चलते उत्तर-पूर्व में भारी गुस्सा है। लोग वोट नहीं देंगे। दक्षिण भारत में लोग भाजपा को वोट नहीं देंगे। बंगाल में उन्हें जीरो मिलेगा।

बंगाल में एनआरसी नहीं : ममता ने कहा कि बंगाल में कभी भी एनआरसी लागू नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि नागरिक संशोधन बिल के माध्यम से पहले 5 साल के लिए विदेशी बना दिया जाएगा। उसके बाद क्या होगा? कोई नहीं जानता। कह रहे हैं कि 2047 में मिलेगा। अर्थात आजादी के 100 साल बाद। तृणमूल सुप्रीमो ने आरोप लगाया कि नोटबंदी कर लोगों के रुपए लूट लिए। चौकीदार चोर है तथा चौकीदार ने चोरी की है। लेकिन रुपए नहीं मिले। किसने लिए रुपए? ममता ने कहा कि भाजपा-मोदी राजनीतिक फायदा के लिए सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन हमने कभी ऐसा नहीं किया। यह शर्मनाक है। अब तो पूर्व सैन्य अधिकारियों ने भी इस प्रयास की निंदा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *