हावड़ा के कई इलाके कंटेन्मेंट जोन घोषित, आने-जाने पर पाबंदी

अब अतिरिक्त सख्ती बरती जाएगी, ताकि गतिविधियां पूरी तरह से रोकी जा सके

हावड़ा, समाज्ञा : हावड़ा में बढ़ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या के मद्देनजर राज्य सरकार ने हावड़ा के कुछ इलाकों को कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया है। इस क्रम में संख्या के आधार पर आसपास के तीन किमी के क्षेत्र को गहन निगरानी में रखा जा रहा है, क्योंकि इन क्षेत्र से ज्यादा मरीज मिले हैं। इन क्षेत्रों को पूरी तरह से सील कर दिया है। आने-जाने पर पाबंदी है। यहां रहने वाले प्रत्येक घर की जांच, सेनिटाइजिंग और हर एक व्यक्ति के सैंपल लिए जा रहे हैं। यहां पुलिस 24 घंटे पहरा दे रही है। शुक्रवार तक हावड़ा हॉट स्पॉट था, मगर अब कंटेन्मेंट जोन बन गया है।

यह है हावड़ा के कंटेन्मेंट जोन
सलकिया के समीप मालीपांचघड़ा थाना अंतर्गत गोपाल घोष लेन, कैबर्तपाड़ा, श्रीराम धांग रोड, बामनगाछी आरओबी को केंटेन्मेंट जोन के रूप में पहचाना गया है। इसके अलावा उत्तर हावड़ा में वार्ड नंबर 1, 2, 3, 4, 5 और मध्य हावड़ा में 19, 26, 27, 29, 30, 31 और 32 नंबर वार्ड को कैंटोनमेंट जॉन के तौर पर चिन्हित किया गया है।

कंटेन्मेंट एरिया में की जाएगी विशेष सफाई
निर्देश पर कंटेन्मेंट एरिया के वार्डों में विशेष सफाई अभियान चलाया जाएगा। क्षेत्रों में पाए गए कोरोना पॉजिटिव मरीज के बाद आसपास के क्षेत्र को कंटेंनमेंट एरिया घोषित किया गया है। यहां पर कोरोना वायरस से संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए निगम के सफाई कर्मियों द्वारा शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सफाई की जा रही है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग के माध्यम से स्वास्थ्य परीक्षण कर रही हैं।

मुख्यमंत्री ने हावड़ा को लेकर जताई थी चिंता
उल्लेखनीय है कि गत शुक्रवार को कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रेड जोन वाले जिलों में सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने खासकर कोलकाता व हावड़ा में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर गहरी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि हावड़ा में हालत बहुत चिंताजनक है। उन्होंने खासकर हावड़ा के शहरी इलाके की स्थिति को संवेदनशील बताते हुए यहां किसी को भी घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की। उन्होंने यहां लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए सशस्त्र पुलिस बल को तैनात करने का भी निर्देश दिया। साथ ही मुख्यमंत्री ने यहां शहरी इलाके के सभी बाजारों को बंद करने का निर्देश दिया। उन्होंने हावड़ा के पुलिस आयुक्त को निर्देश दिया कि कोई भी व्यक्ति घर से नहीं निकले और इस इलाके में बाहर से कोई भी लोग नहीं पहुंचे यह सुनिश्‍चित करें। मुख्यमंत्री ने यहां पुलिस द्वारा ही लोगों को जरूरी सामान घर में मुहैया कराने की बात कही। ममता ने कोलकाता के भी कुछ वार्डों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि कुल मामलों में से करीब 90 फीसदी मामले कोलकाता और हावड़ा से हैं। यह दोनों जिले सबसे संवेदनशील हैं। केंद्र सरकार ने भी देश के जिन 170 जिलों को हॉटस्पॉट चिन्हित कर रेड जोन घोषित किया गया है उनमें बंगाल के 4 जिले- कोलकाता, हावड़ा, पूर्व मेदिनीपुर व उत्तर 24 परगना है। मुख्यमंत्री ने साथ ही इन जिलों के डीएम, एसपी व पुलिस आयुक्त को अगले 14 दिनों से रेड जोन से ऑरेंज जोन में लाने का निर्देश दिया।

हॉट स्पॉट और कंटेन्मेंट जोन में अंतर
कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। कोरोना जैसी महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 1,200 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन तैयार किए गए हैं। हाल ही में कोरोना से लड़ने के लिए हावड़ा के कुछ इलाकों को हॉटस्पॉट बनाकर सील कर दिया है लेकिन कंटेनमेंट जोन, हॉटस्पॉट केंद्रों से थोड़ा अलग हैं। कंटेनमेंट जोन का आधार कुछ किलोमीटर के क्षेत्र माना गया है यानि कि अगर किसी क्षेत्र में एक या एक से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज पाए जाते हैं तो कम से कम 5 किलोमीटर तक के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है।

क्या होता है कंटेन्मेंट जोन
इलाके की निगरानी को लेकर कानूनन सख्ती बरती जाती है। पूरे इलाके की सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन के जरिए निगरानी की जाती है। स्वास्थ्य कर्मी और निकाय से सफाई कर्मचारी पूरे इलाके को सेनिटाइज करेंगे। लोगों के आने-जाने पर पूरी तरह से पाबंधी रहेगी। मोबाइल एप के जरिए गैर कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच भी होगी। कंटेंमेंट जोन का दायरा सीमित होता है। देश में इनकी संख्या 1200 से अधिक है।

क्या कहना है अधिकारी का
हावड़ा सिटी पुलिस के डीसी हेडक्वार्टर प्रियब्रत रॉय ने समाज्ञा को बताया कि ग्राहकों को कंटेनमेंट जोन के तौर पर चिन्हित किया गया है उन सभी इलाकों बैरिकेडिंग करके सील किया जा रहा है। साथ ही उन सभी इलाकों में पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। गली मोहल्लों में भी पुलिस की टीम गश्त लगा रही है। ताकि लोगों की आवाजाही को नियंत्रित किया जा सके। इसके अलावा दोपहर 12 बजे के बाद कहीं भी कोई भी मार्केट नहीं बैठेगा। इसके अलावा पहले से ही ड्रोन की मदद से हावड़ा पर नजर रखी जा रही है, जिससे लोग लॉक डाउन का उल्लंघन न कर सके। वहीं अब लोगों को उल्लंघन करने पर लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है।
….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *