हमेशा चाहता था धोनी बल्लेबाजी क्रम में ऊपर खेले: गांगुली

कोलकाता : महेंद्र सिंह धोनी को खेल के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर में से एक माना जाता है लेकिन उनके 39वें जन्मदिन के मौके पर पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि विश्व कप विजेता टीम के कप्तान रहे धोनी अगर बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आते तो और अधिक खतरनाक हो सकते थे।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के मौजूदा अध्यक्ष गांगुली ने बीसीसीआई के ट्विटर हैंडल पर भारत के युवा सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को चैट शो के दौरान कहा, ‘‘वह सिर्फ फिनिशर नहीं है बल्कि विश्व क्रिकेट के महान खिलाड़ियों में से एक है। सभी इस बारे में बात करते हैं कि वह निचले क्रम में कैसे मैच को फिनिश करते हैं। मेरा हमेशा से मानना रहा है कि उसे बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आना चाहिए क्योंकि वह विध्वंसक बल्लेबाज है।’’

धोनी ने 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के खिलाफ गांगुली की कप्तानी में ही अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया था। गांगुली ने याद किया कि किस तरह पाकिस्तान के खिलाफ तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 148 रन की पारी खेलकर धोनी ने सुर्खियां बटोरी है।

गांगुली ने कहा, ‘‘यह शानदार था। अगर आप एकदिवसीय क्रिकेट का इतिहास देखो तो सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी दबाव में भी लगातार बाउंड्री लगा सकते हैं। महेंद्र सिंह धोनी उनमें से एक था और यही कारण है कि वह विशेष था।’’

यह पूछने पर कि क्या उन्होंने धोनी को टीम में चुना था, गांगुली ने कहा, ‘‘हां यह सकी है लेकिन यह मेरा काम है, क्या ऐसा नहीं है? यह प्रत्येक कप्तान का काम होता है कि वह सर्वश्रेष्ठ को चुने और सर्वश्रेष्ठ संभव टीम बनाए।’’

धोनी को पिछले बार खेलते हुए लगभग एक साल पहले देखा गया था जब विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल में मार्टिन गुप्टिल के शानदार थ्रो पर वह रन आउट हुए थे और भारत हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया था।

धोनी के मार्च में आईपीएल 2020 के साथ वापसी करने की उम्मीद थी लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इस टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया।

भारत के मौजूदा कप्तान विराट कोहली सहित धोनी के भारतीय और आईपीएल टीम के साथियों ने उन्हें बधाई दी।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने 2019 विश्व का का वीडियो पोस्ट किया जिसमें अन्य लोगों के साथ कोहली कह रहे है कि उन्हें धोनी के साथ ‘विशेष साझेदारी’ से काफी फायदा मिला।

कोहली ने कहा, ‘‘वह मैदान पर प्रत्येक मिनट का लुत्फ उठाता है और वर्षों से हमारी आपसी समझ शानदार रही है क्योंकि जब मैं टीम में आया तो उसने मुझे इसलिए मौका दिया क्योंकि उसका मानना था कि मैं सही इरादे के साथ खेलता हूं और टीम के लिए कुछ भी कर सकता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यही कारण है कि हमारी साझेदारी इतनी विशेष थी और यहां तक कि मैदान के बाहर मैं उसे और वह मुझे अच्छी तरह समझते थे। मैं मैदान पर हमेशा उसकी सलाह सुनता था और उसके जैसे अनुभवी खिलाड़ी के होने से काफी मदद मिलती थी। वह हमेशा मेरे दिमाग में मेरा कप्तान रहेगा।’’

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा, ‘‘एक पीढ़ी में एक बार एक खिलाड़ी आता है और राष्ट्र उससे जुड़ जाता है। उसे अपने परिवार के सदस्य जैसे मानता है। कुछ बहुत अपना सा लगता है। ऐसे शख्स को जन्मदिन की शुभकामनाएं जो कई लोगों के लिये उनकी दुनिया है। ’’

केदार जाधव ने इस अवसर पर मराठी में एक लंबा पत्र लिखकर धोनी के प्रति अपना प्यार और सम्मान जताया है।

भारतीय आलराउंडर हार्दिक पंड्या ने धोनी को बधाई देते हुए लिखा है, ‘‘मेरे बिट्टू (धोनी के संदर्भ में) को उसके चिट्टू की ओर से जन्मदिन की बधाई। मेरा दोस्त जिसने मुझे बेहतर इंसान बनना सिखाया और जो बुरे दौर में मेरे साथ खड़ा रहा। ’’

धोनी के चेन्नई सुपरकिंग्स और भारतीय टीम के साथी रहे सुरेश रैना उन्हें सबसे पहले बधाई देने वाले लोगों में शामिल रहे।

रैना ने लिखा, ‘‘मेरे पसंदीदा इंसान, भाई और कप्तान को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई। वह व्यक्ति जो हमेशा मेरे दिमाग और दिल में छाया रहा। सभी तरह की प्रेरणा के लिए धन्यवाद धोनी।’’

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने धोनी की तारीफ करते हुए लिखा, ‘‘उस व्यक्ति को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई जिसका धैर्य प्रेरणा बना रहेगा।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *