हारने के बाद भी पहले ही भारतीय टीम दो मैच जीतकर अपने नाम कार ली थी सीरीज

इंग्लैंड की महिला टीम ने गुरुवार को मुश्किल स्थिति से उबरते हुए तीसरे और अंतिम वनडे में दो विकेट से सांत्वना जीत दर्ज की, जिससे उसने मेजबान भारत को तीन मैचों की सीरीज में व्हाइटवॉश करने से रोक दिया. अब दोनों टीमों के बीच गुवाहाटी में तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेली जाएगी, जिसका पहला मैच 4 मार्च को होगा.

भारत के 8 विकेट पर 205 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 49 रनों पर 5 विकेट गंवा जूझ रही थी, जिसके बाद ऑलराउंडर डैनी वायट (82 गेंदों में 56 रन) ने कप्तान हीथर नाइट (63 गेंदों में 47 रन) और जॉर्जिया एल्विस (53 गेंदों में नाबाद 33 रन) के साथ दो अहम साझेदारियां निभाकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई.

इंग्लैंड ने 48.5 ओवरों में आठ विकेट पर 208 रन बनाकर दो महत्वपूर्ण अंक जुटाए, क्योंकि यह तीन मैचों की सीरीज आईसीसी महिला चैम्पियनशिप का हिस्सा है. विश्व चैम्पियन टीम सातवें स्थान पर काबिज है और उसे 2021 विश्व कप में सीधे क्वालिफाई करने के लिए शीर्ष चार में रहने की जरूरत है. भारतीय टीम पहले दो मैचों में जीत दर्ज कर पहले ही सीरीज अपने नाम कर चुकी थी.

अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी (41 रन देकर तीन विकेट) ने इस लक्ष्य का बचाव करते हुए एमी जोंस (13), लॉरेन विनफील्ड (02) और तमसिन ब्यूमोंट (21) के विकेट झटककर इंग्लैंड के शीर्ष क्रम को तहस नहस कर दिया.

जल्द ही उनका स्कोर 4 विकेट पर 40 रन हो गया, जब ऑफ स्पिनर दीप्ति शर्मा ने फॉर्म में चल रही नटाली स्कीवर (01) को आउट किया। इसके बाद तेज गेंदबाज शिखा पांडे ने सारा टेलर (02) का विकेट हासिल किया जिससे इंग्लैंड ने 49 रन पर अपनी आधी टीम गंवा दी.

View image on Twitter

वायट और नाइट ने छठे विकेट के लिए 69 रनों की अहम साझेदारी निभाई. नाइट के आउट होने के बाद वायट ने सातवें विकेट के लिए एल्विस के साथ 56 रनों की भागीदारी की और टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया.

इससे पहले मध्यम गति की गेंदबाज कैथरीन ब्रंट के पांच विकेट झटकने से भारतीय टीम उपकप्तान स्मृति मंधाना और पूनम राउत द्वारा रखी गई अच्छी नींव का फायदा नहीं उठा सकी और आठ विकेट पर 205 रन ही बना सकी.

33 साल की ब्रंट ने 28 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए और भारतीय टीम के मध्यक्रम को नुकसान पहुंचाया. इससे मेजबान टीम का स्कोर एक विकेट पर 129 रन से सात विकेट पर 150 रन हो गया और टीम इससे उबरने में विफल रही.

हालांकि दीप्ति शर्मा (नाबाद 27 रन) और शिखा पांडे (26) ने आठवें के लिए 47 रनों की भागीदारी निभाकर सुनिश्चित किया कि भारतीय टीम 200 रन का आंकड़ा पार कर ले. बल्लेबाजी का फैसला करने के बाद मेजबान टीम ने जेमिमा रॉड्रिग्स (0) का विकेट गंवा दिया.

स्मृति मंधाना (74 गेंदों में 66 रन) और पूनम (97 गेंद में 56 रन) ने दूसरे विकेट के लिए 129 रनों की भागीदारी निभाई. मंधाना ने आठ चौके लगाए व एक छक्का जड़ा. वहीं, पूनम ने सात बाउंड्री लगाई. मंधाना प्लेयर ऑफ द सीरीज रहीं. इस सीरीज में उन्होंने 24, 63 और 66 रनों की पारियां खेलीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *