आज शाम 5 बजे बंगाल में सभी कंटेनमेंट जोन में 7 दिनों तक सम्पूर्ण लॉकडाउन

7 दिनों के बाद स्थिति की समीक्षा के बाद प्रतिबंध हटाने पर होगा विचार : मुख्यमंत्री

कोलकाता : बंगाल में कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण को काबू में करने के लिए सरकार के आदेश पर महानगर कोलकाता समेत राज्य के सभी कंटेनमेंट जोन में आज शाम 5 बजे से एक बार फिर संपूर्ण लॉकडाउन लागू किया जाएगा। बुधवार को राज्य सचिवालय नवान्न में मीडिया को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि अगले 7 दिनों तक सख्त प्रतिबंधों के साथ कंटेनमेंट जोन में संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा। 7 दिनों के बाद स्थिति की समीक्षा की जाएगी और तदानुसार प्रतिबंध हटाने पर निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले 7 दिनों तक कंटेनमेंट जोन में जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी और निजी कार्यालय, सभी गैर आवश्यक गतिविधियां, दुकान, बाजार, परिवहन सेवा सब बंद रहेंगे। स्थानीय प्रशासन इन इलाकों के निवासियों के लिए आवश्यक सामानों की आपूर्ति उपलब्ध कराने का प्रयास करेगा।

राज्य के बड़े नहीं छोटे इलाके में लॉकडाउन

वहीं आगे ममता ने कहा कि कोलकाता, उत्तर 24 परगना, हावड़ा, दक्षिण 24 परगना व कुछ अन्य जिले हैं, जहां खासकर शहरी क्षेत्रों में आबादी ज्यादा है, वहीं से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। कुछ बस्ती व आवासन से भी मामले आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन इलाकों से ज्यादा मामले आ रहे हैं, उसी जगह व आसपास के छोटे-छोटे पॉकेटों में संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा। बड़े इलाके में इस बार लॉकडाउन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में संक्रमण और नहीं बढे इसीलिए ऐसा किया जा रहा है।

दक्षिण 24 परगना जिले की सूची पर ममता ने जताई नाराजगी

मुख्यमंत्री ने इस दौरान जिला प्रशासन की तरफ से तैयार कंटेनमेंट जोन की सूची की भी समीक्षा की। उन्होंने दक्षिण 24 परगना जिले की सूची पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि यहां की सूची को देखकर लगता है कि बिना फील्ड में गए वोटर लिस्ट देखकर ज्यादातर इलाके को कंटेनमेंट जोन कर दिया गया है। उन्होंने मुख्य सचिव को दक्षिण 24 परगना के कंटेनमेंट जोन की सूची समीक्षा के बाद एक-दो दिन में जारी करने को कहा। बाकी कोलकाता, हावड़ा व उत्तर 24 परगना व अन्य जिले के कंटेनमेंट जोन की सूची बुधवार शाम में जारी कर दी गई। इसके अनुसार कोलकाता में 25, उत्तर 24 परगना में 94 व हावड़ा में 56 कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। मुख्यमंत्री ने इस दिन राज्य सचिवालय नवान्न में विभिन्न अस्पतालों के वरिष्ठ चिकित्सकों के साथ उच्च स्तरीय बैठक भी की और जरूरी दिशा निर्देश दिए।

डॉक्टर एवं कोविड मरीजों को फेश शील्ड पहनने पर जोर

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डॉक्टरों की सुरक्षा पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कोविड मरीजों के इलाज में शामिल डॉक्टरों को विशेष फेस शील्ड उपयोग करने का निर्देश दिया हैं। साथ ही, उन्होंने बताया कि मरीजों को भी विशेष फेस शील्ड दिया जाएगा। हालांकि, ममता कोरोना मेडिकल कॉलेज की भूमिका से संतुष्ट नहीं हैं। मुख्यमंत्री ने उन्हें और बेहतर काम करने की सलाह दी। इस दिन, नवान्न में मुख्यमंत्री मेडिकल कॉलेज एवं अन्य अस्पताल के अधिकारियों के साथ एक बैठक की। बैठक में, मुख्यमंत्री ने डॉक्टरों को कोरोना के साथ अन्य रोगों से ग्रसित मरीजों की भी देखभाल पर पूरी नजर रखने की अपील की।

बगैर मास्क के बाहर निकले तो भेजा जाए घर, न ले जुर्माना

ममता ने मास्क पहनने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि बिना मास्क पहने पकड़े जाने पर घर भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर वह चाहती तो मास्क न पहनने पर 2 हजार रुपये जुर्माना लगा सकती थीं, लेकिन वह गलत होता। इसलिए, पुलिस को निर्देश दिया गया है कि अगर कोई बगैर मास्क के बाहर निकलता है, तो उसे वापस उसके घर भेज दिया जाये।

मुख्यमंत्री ने मीडिया को लगाया फटकार

बैठक में, मुख्यमंत्री ने मीडिया को फटकार लगाते हुए मीडिया द्वारा अपने हिसाब से कंटेनमेंट जोन की सूची प्रकाश कर दहशत फैलाने का आरोप लगाया। इस दौरान, ममता ने कहा कि लॉकडाउन पर राजनीति की जा रही है, मीडिया अनावश्यक दहशत फैला रहा है। उन्होंने मीडिया से अपील की कि लोगों को अनावश्यक रूप से भ्रमित न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *