उज्जैन से गिरफ्तार किया गया गैंगस्टर विकास दुबे

उज्जैन
उत्तर प्रदेश के कानपुर में डीएसपी सहित 8 पुलिसकर्मी की हत्या करने वाला विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल के मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। वारदात के आठ दिनों बाद हुई गिरफ्तारी कैसे हुई इसका पूरा वाक्या महाकाल मंदिर के पुजारी ने विस्तार से बताया है।

महाकाल मंदिर के पुजारी आशीष ने बताया कि एनकाउंटर के डर से विकास दुबे खुद से सरेंडर करना चाहता था। मंदिर परिसर में पहुंचने के बाद विकास दुबे चिल्ला चिल्लाकर कहने लगा कि वह ही विकास दुबे है। उसने महाकाल मंदिर के सुरक्षाकर्मियों से कहने लगा कि पुलिस को सूचना दी जाए।

पुजारी आशीष ने बताया कि मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षाकर्मियों को लगा कि इस शख्स की शक्ल कानपुर के अपराधी विकास दुबे से मिलती है, तो उन्होंने उसे पकड लिया। उसके बाद महाकाल मंदिर के पुलिस चौकी को सूचना दी गई। यह पूरा प्रकरण करीब 9 बजे के आसपास हुआ। विकास दुबे ने 250 रुपये की रसीद कटवाकर मंदिर में दाखिल हुआ था।

पुजारी ने बताया कि जब विकास दुबे रसीद कटवाने के लिए पहुंचा तभी वहां मौजूद कर्मचारी को लगा कि यह विकास दुबे है। शक होने पर मंदिर के कर्मचारियों ने उसे गिरफ्त में ले लिया।

पुजारी आशीष ने बताया कि महाकाल मंदिर में सावन में रोजाना इन दिनों करीब 7-8 लोग आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि विकास दुबे गिरफ्त में आने के बाद किसी भी तरह की बदमाशी नहीं की। उसने भागने की भी कोशिश नहीं की। विकास दुबे को जिन कर्मचारियों ने पकडा है उनके पास कोई हथियार नहीं था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *