जेईई परीक्षा के तीसरे दिन बंगाल में केवल 57 प्रतिशत आवेदक परीक्षा देने पहुंचे

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बारिश और परिवहन सुविधाओं के अभाव के चलते जेईई-मुख्य के परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र जाने में खासी दिक्कतों का सामाना करना पड़ रहा है।इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि बृहस्पतिवार को परीक्षा के तीसरे दिन इन्हीं हालात के बीच 57 प्रतिशत आवेदक परीक्षा देने पहुंचे।कोविड-19 के दौरान कुछ परीक्षार्थियों को केन्द्र पहुंचने के लिए दोपहिया वाहनों पर लंबा सफर करना पड़ा जबकि कई आवेदक भारी-भरकम किराया देकर परीक्षा केन्द्र पहुंचे।

दो केन्द्रों में लगभग 57 फीसदी परीक्षार्थी उपस्थित रहे
पश्चिम बंगाल में 15 केन्द्रों में जेईई की परीक्षा ली जा रही है।रूपक बनर्जी अपने पिता के दोपहिया वाहन पर पश्चिमी मिदनागपुर के घाटल से परीक्षा देने के लिए साल्ट लेक इलाके के सेक्टर-5 स्थित एक केन्द्र पहुंचे।बनर्जी ने कहा कि हम लगभग 135 किलोमीटर की दूरी तय कर यहां पहुंचे हैं। कई जगहों पर बारिश हो रही थी। कई इलाकों में जलभराव था। लेकिन मैं यह साल बर्बाद नहीं होने देना चाहता।इसी तरह पश्चिमी मिदनापुर के देबरा निवासी शंकर प्रमाणिक ने कहा कि वह एक निजी बस में लगभग 500 रुपये किराया देकर केन्द्र तक पहुंचे हैं।उन्होंने कहा कि आम दिनों में वह इसका एक-तिहाई किराया देकर यहां पहुंच जाते।परीक्षा करा रही राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी के एक अधिकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को परीक्षा के तीसरे दिन कोलकाता के दो केन्द्रों में लगभग 57 फीसदी परीक्षार्थी उपस्थित रहे। सभी 15 परीक्षा केन्द्रों के आंकड़े अभी उपलब्ध नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *