उत्तर कोरियाई नेता किम के भाई की हत्या में शामिल महिला रिहा होगी

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम की हत्या में घातक नर्व एजेंट का इस्तेमाल करने वाली वियतनामी महिला ने सोमवार को ‘खतरनाक हथियार से नुकसान पहुंचाने’ के कुछ आरोपों को स्वीकार कर लिया है. यह वियतनामी महिला इस मामले में दूसरी आरोपी है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, मलेशियाई अभियोजकों ने दोआन थी हुआंग के खिलाफ हत्या के आरोप को कम करने का प्रस्ताव दिया. बीते महीने अपने सह आरोपी इंडोनेशियाई नागरिक सिति एसियाह की रिहाई के बाद से हुआंग एकमात्र संदिग्ध है जो अभी भी सलाखों के पीछे हैं.

हुआंग अदालत में अभियोजकों के हत्या के आरोप को हटाकर इसकी जगह पर कुछ आरोप लगाने के प्रस्ताव को सुनकर मुस्कुराई. न्यायाधीश ने हुआंग को तीन साल व चार महीने की सजा सुनाई, जो फरवरी 2017 की गिरफ्तारी की तिथि से शुरू होगी. इसका मतलब है कि वह हिरासत से अगले साल रिहा हो सकती है. हुआंग दो आरोपी महिलाओं में एक है जिस पर फरवरी 2017 में किम जोंग-नाम की हत्या का आरोप है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, हुआंग के वकील हिसयम तेह पोह तेईक ने कहा कि उनकी टीम ने अटॉर्नी जनरल से हुआंग के खिलाफ आरोप पर फिर से विचार के लिए एक अर्जी दाखिल की थी. तेह ने अदालत से कहा, अटार्नी जनरल द्वारा इसे स्वीकार कर लिया गया है और यह वही है जिसे हम आज सुबह होते हुए देख रहे हैं. उन्होंने कहा, “इसके लिए हम अटॉर्नी जनरल का आभार प्रकट करते हैं.

वकील हिश्यम तेह पोह टीक ने कुआलालम्पुर के बाहर शाह आलम हाईकोर्ट में पत्रकारों को बताया कि, हुआंग मई के पहले सप्ताह में वह घर आ जाएंगी. इससे पहले उसके एक वकील सलीम बशीर ने शाह आलम हाईकोर्ट के बाहर पत्रकारों को बताया कि 30 वर्षीय महिला पर हत्या के बजाय खतरनाक हथियारों से नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया गया जिसे उसने स्वीकार कर लिया हैं.

क्या मामला है

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम की मलेशिया में हत्या हो गई है. एक खबर के अनुसार उन पर जहरीली सुई से हमला किया गया था. बताया जाता है कि उनकी हत्या 2 महिला एजेंटों ने की है. मलेशियाई पुलिस ने कहा कि कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक कोरियाई बीमार पड़ा था और उसकी मौत हो गई. मलेशियाई पुलिस के अनुसार इस कोरियाई की शिनाख्त नहीं हो सकी है. अगर इसकी पुष्टि हो गई तो किम जोंग-उन के शासन में यह उच्चतम प्रोफाइल वाली मौत होगी. इससे पहले उत्तर कोरियाई नेता के चाचा जांग सोंग-थाएक की दिसंबर 2013 में हत्या हुई थी.

बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबावों के बीच किम जोंग-उन सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत कर रहे हैं. उन्होंने कथित रूप से अनेक हत्याओं को अंजाम दिलवाया है. योनहाप ने एक सूत्र के हवाले से बताय कि उत्तर कोरिया की जासूसी एजेंसी द रेकन्नोयसां जनरल ब्यूरो ने हवाई अड्डे पर जोंग-नाम के अंगरक्षकों और मलेशियाई पुलिस के बीच सुरक्षा खामियों का लाभ उठा कर हत्या को अंजाम दिया है. दक्षिण कोरियाई प्रसारक टीवी चोसुन के अनुसार दो महिला एजेंटों ने कुआलालंपुर के एक हवाई अड्डे पर जहर की सुई का उपयोग कर 45 वर्षीय जोंग-नाम की हत्या की.

इस रिपोर्ट के अनुसार बताया गया है कि दोनों महिलाएं एक ही कार से फरार हो गईं थी. मलेशिया में कुआलालंपुर हवाई अड्डे के प्रभारी पुलिस अधिकारी उपायुक्त अब्दुल अजीज अली ने बताया कि एक कोरियाई को हवाई अड्डे पर बीमार पाया गया. अली ने कहा कि हवाई अड्डे के अधिकारी उसे अस्पताल ले गए लेकिन उसकी मौत रास्ते में ही हो गई. उन्होंने कहा, हमारे पास इस कोरियाई शख्स का कोई अन्य ब्योरा नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *