आरएसएस कर रहा कांग्रेस की मदद : ममता

-तृणमूल सुप्रीमो का सनसनीखेज दावा

-दावा, कांग्रेस के लिए संघ कर रहा खर्च

कोलकाता/चोपड़ा: उत्तर बंगाल के 10 दिवसीय चुनावी दौरा कर रहीं तृणमूल सुप्रीमो व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कांग्रेस व आरएसएस से संबंधित एक सनसनीखेज दावा किया। ममता ने दावा किया कि आरएसएस, कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में मदद कर रहा है। ममता ने आरोप को और भी स्पष्ट करते हुए कहा कि आरएसएस, कांग्रेस को बहरमपुर में मदद कर रहा है। इतना नही आरएसएस, प्रणव पुत्र(जंगीपुर से पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी कांग्रेस की टिकट पर दूसरी बाद चुनाव लड़ रहे हैं) की भी मदद कर रहा है। ममता ने हमला जारी रखते हुए कहा कि आरएसएस, कांग्रेस को मदद करने के लिए रुपए भी खर्च कर रहा है। राजनीतिक विशेषज्ञों के लिए ममता बनर्जी का आरोप हैरान करने वाला है। लेकिन उनका दावा है कि सर्वाजनिक तौर लगाए गए आरोप की गंभीरता को समझने की जरुरत है।

अधिकारी बदलकर फायदा नही : चोपड़ा में दार्जिलिंग संसदीय सीट से पार्टी उम्मीदवार अमर राई के समर्थन में रैली को संबोधित करते हुए ममता ने हुंकार भरते हुए कहा कि पुलिस अधिकारियों को बदलने से कोई?भी फायदा नहीं होगा। तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि राज्य के सभी प्रशासनिक अधिकारी ही राज्य सरकार के हैं। चंद अधिकारियों को हटाने से कुछ नहीं होगा। मालूम हो कि आयोग ने पहले चरण के मतदान के 24 घंटे पहले ही कूचबिहार के एसपी को हटा कर नए एसपी को जिम्मेवारी सौंपी है।

आत्मग्लानी से पीड़ित :वहीं, तृणमूल सुप्रीमो के आरोप से इनकार करते हुए आरएसएस के बंगाल प्रमुख नेता जिष्णु बासु ने कहा कि वे नहीं जानते कि ममता बनर्जी ने यह आरोप क्यों लगाया है। लेकिन वे इतना जरुर कहेंगे कि आरोप गलत व निराधार है। कांग्रेस को मदद करने का कोई सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक भी सीट बढ़ना हमारे लिए शुभ संकेत नहीं है। इसकी गंभीरता को हम समझते हैं। ऐसे में कांग्रेस की मदद करने का कोई सवाल ही नहीं है। यह पूछने पर कि ममता बनर्जी ने यह आरोप केवल बहरमपुर व जंगीपुर के मामले में ही क्यों लगाया, जिष्णु ने कहा कि ऐसा ममता आत्मग्लानी से कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि धूलागढ़ से लेकर जहां-जहां भी दंगे हुए थे, वहां की सच्चाई ममता बनर्जी को मालूम है। अल्पसंख्यकों को खुश करने के मामले में अब उन्हें अपनी गलती का एहसास हो रहा है। और इसीलिए वे ऐसा मनगठंत आरोप लगा रहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *